कोलकाता, जागरण संवाददाता। एक महिला से सामूहिक दुष्कर्म मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग ने पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिदेशक से हस्तक्षेप करने की मांग की है। मामले में तृणमूल का ग्राम पंचायत सदस्य व उसके तीन सहयोगी आरोपित हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मामला जलपाईगुड़ी का है। आरोप है कि यहां आवास योजना के नाम पर ली गई कटमनी वापस मांगने पर महिला के साथ तृणमूल नेता और उसके तीन साथियों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। मामला मीडिया के माध्यम से सामने आने के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग ने घटना की भ‌र्त्सना करते हुए राज्य में जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों की ऐसी हरकत पर आश्चर्य जताया है।

आयोग की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधियों का काम लोगों के अधिकारों की रक्षा करना है। लेकिन यहां जनप्रतिनिधि ने दो-दो अपराध किए हैं। पहला उसने आम लोगों से सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए घूस लिया, जबकि ऐसा करना उसकी नैतिक जिम्मेदारी है। दूसरा उसने अपने साथियों के साथ मिल कर एक महिला के सम्मान के साथ खिलवाड़ किया है। आयोग के सूत्रों के अनुसार पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिदेशक से निगम ने लिखित मांग की गई है कि वह इस मामले में हस्तक्षेप करें और मामले में अभी तक क्या कार्रवाई हुई है, उसकी विस्तृत रिपोर्ट भी आयोग को उपलब्ध कराएं। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप