राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो ममता बनर्जी ने रविवार को भाजपा पर फिर हमला बोलते हुए कहा कि 30 साल तक उन्होंने माकपा के साथ लड़ाई की है, अब उनकी लड़ाई भाजपा के खिलाफ होगी। उन्होंने कहा कि भवानीपुर तो केवल शुरुआत है। टीएमसी हर प्रांत में जाएगी और देश से भाजपा को हटाएगी। भवानीपुर विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ रहीं ममता ने यहां एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए नए कृषि कानूनों के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा के 27 सितंबर को देशव्यापी हड़ताल का भी नैतिक समर्थन करते हुए कहा कि जरूरत पड़ी तो वह पंजाब और गुजरात भी जाएगी। उन्होंने फिर मांग की कि केंद्र सरकार तीनों काले कृषि कानूनों को तुरंत वापस ले।

जेल में भी भेजकर टीएमसी को नहीं रोक पाएगी भाजपाः ममता

ममता ने भाजपा को फिर जुमला पार्टी भी कहा। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता डेड बाडी पर डांस करते हैं। गुंडागर्दी करते हैं। यह इंसानियत वाली पार्टी नहीं है। वे सभी बाहरी हैं और बाहर से आकर लोगों को भड़काते हैं। कभी मानवाधिकार आयोग को भेजते हैं, तो कभी दूसरी एजेंसी को। हारने के बाद भी लज्जा नहीं है। उन्होंने कहा कि आप जेल में भेजेंगे, भेजो, कितना जेल है आपके पास। सभी टीएमसी नेताओं को नोटिस दे दो, पत्नी को नोटिस दे दो, बच्चे को दे दो, लेकिन टीएमसी को नहीं रोक पाओगे। 

एक लाख से अधिक वोटों से जीतेंगी ममता : अभिषेक

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद अभिषेक बनर्जी ने रविवार को भाजपा पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि 30 सितंबर को भवानीपुर विधानसभा उपचुनाव में लोग दिल्ली में परिवर्तन के लिए वोट देंगे। भवानीपुर में ममता बनर्जी एक लाख से अधिक वोटों से जीतेंगी और भाजपा की जमानत जब्त हो जाएगी।

माकपा उम्मीदवार को प्रचार से रोकने को लेकर हंगामा

भवानीपुर विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में वाममोर्चा समर्थित माकपा उम्मीदवार श्रीजीब विश्वास को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आवास की ओर जाने वाली सड़क पर प्रचार करने से रोके जाने पर जमकर हंगामा किया गया। बाद में माकपा उम्मीदवार विश्वास और नेता सुजन चक्रवर्ती के संग अन्य तीन लोगों को हरीश चटर्जी स्ट्रीट क्षेत्र में प्रचार करने की अनुमति दी गई।

भवानीपुर उपचुनाव : मतदान से पहले भाजपा व तृणमूल ने झोंकी ताकत

बंगाल की हाई प्रोफाइल भवानीपुर विधानसभा सीट पर 30 सितंबर को होने वाले मतदान से पहले चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और मुख्य विपक्षी भाजपा दोनों ही दलों ने पूरी ताकत झोंक दी है। भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में रविवार को केंद्रीय मंत्री डा सुभाष सरकार से लेकर पार्टी सांसद व भोजपुरी फिल्मों के स्टार मनोज तिवारी व अन्य नेताओं ने भवानीपुर के विभिन्न क्षेत्रों में घर-घर घूम कर जमकर प्रचार किया। दूसरी ओर, इस सीट से तृणमूल उम्मीदवार व राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी लगातार प्रचार करतीं आ रही हैं और रविवार को भी उन्होंने सभा कीं। ममता के अलावा उनके भतीजे सांसद व तृणमूल के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी व अन्य तृणमूल नेताओं ने भी प्रचार किया।

इधर, भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने दावा किया कि भवानीपुर में भगवा पार्टी के पक्ष में माहौल है और प्रियंका टिबड़ेवाल की जीत होंगी। उत्तर पूर्वी दिल्ली से लोकसभा सदस्य तिवारी ने भवानीपुर के आंबेडकर कालोनी इलाके में घर-घर जाकर प्रचार किया। तिवारी ने कहा- भवानीपुर के लोगों का प्यार बेशुमार है..। टीएमसी घबराई हुई है। मतदाता 30 सितंबर का बेसब्री से इंतेजार कर रहे हैं, जब कमल खिलेगा। उन्होंने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि लोग बिना किसी डर के स्वतंत्र रूप से मतदान करने के लिए घरों से निकलेंगे और भाजपा जीतेगी। वहीं, तिवारी की टिप्पणी पर तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व राज्य के मंत्री फिरहाद हकीम ने आरोप लगाया कि भाजपा ऐसे नेताओं को प्रचार के लिए ला रही है जिनका भवानीपुर के लोगों से कोई संबंध नहीं है। वे दिन में सपने देख रहे हैं और उपचुनाव में करारी हार का सामना करेंगे।बता दें कि इससे पहले केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और स्मृति इरानी भी भाजपा उम्मीदवार के लिए प्रचार करने भवानीपुर पहुंचे थे।

प्रचार के अंतिम दिन, भाजपा के 80 नेता उतरेंगे मैदान में

गौरतलब है कि भवानीपुर सीट पर उपचुनाव के लिए सोमवार को प्रचार का अंतिम दिन है। प्रदेश भाजपा की ओर से एक बयान में बताया गया है कि अंतिम दिन भवानीपुर के सभी आठ वार्डो में 80 स्थानों पर पार्टी के 80 नेता चुनाव प्रचार के लिए मैदान में उतरेंगे। सुबह आठ से 11 एवं दोपहर दो से पांच बजे तक दो चरणों में ये नेता प्रचार करेंगे।

Edited By: Sachin Kumar Mishra