दार्जिलिंग, जागरण संवाददाता मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि दार्जिलिंग सूबे की हृदय स्थली है। पहाड़ का विकास उनका सपना है। सभी को भेदभाव भूलकर विकास पर ध्यान देना चाहिए। 2019 में पहाड़ में एशियन कल्चरल फेस्टीवल होगा। हिल्स के लोगों को आर्थिक रूप से सबल बनाने के लिए सभी 15 विकास बोर्ड होम स्टे टूरिज्म को ध्यान में रख गृह मॉडल बनाएंगे। हिल्स के 28 हजार छात्रों को स्कूल बैग दिए जाएंगे। इतना ही नहीं पहली बार 431 वनवासियों को भूमि पट्टा दिया गया है।

मुख्यमंत्री बुधवार को दार्जिलिंग शहर के चौरास्ता में आयोजित समारोह को संबोधित कर रही थीं। इस दौरान सीएम ने विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास किया। मंग्पू के जोगीघाट में 25 एकड़ पर बनने वाले विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया।

एशियन खेल में स्वर्ण पदक जीतने वाली स्वप्ना बर्मन की मां को 10 लाख रुपये का चेक दिया। साथ ही स्वप्ना और उसके भाई को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की। कहा कि पहाड़ सबके हृदय में बसा है। उन्हें खुद यहां रहने की इच्छा होती है। पहाड़ में 15 विकास बोर्ड हैं। सभी बोर्डो को होम स्टे टूरिज्म को बढ़ावा देने को हा गया है। यहां की प्राकृतिक संपदा को बचाना हम सभी का कर्तव्य है। विकास बोर्डो को होम स्टे टूरिज्म को ध्यान में रखकर हाउसिंग मॉडल बनाने का निर्देश दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि विश्वविद्यालय में पहाड़ से संबंधित विषय पर्यटन, पत्रकारिता, तकनीक, टी- मैनेजमेंट की पढ़ाई होगी। पहाड़ को एजुकेशन हब के रूप में परिवर्तित करने की उनकी इच्छा है। वाम मोर्चा पर निशाना साधते हुए कहा कि बंगाल को 48 हजार करोड़ रुपये के कर्ज में डूबा दिया है।

कार्यक्रम में पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव के अलावा जीटीए के चेयरमैन विनय तामांग, जाप संस्थापक डॉ. हर्क बहादुर छेत्री, अभागोली अध्यक्ष भारतीय तामांग उपस्थित थीं।

समय से पहले ही पहुंची एयरपोर्ट, हाथ हिलाकर किया लोगों का अभिवादन

उत्तर बंगाल दौरे पर दार्जिलिंग आईं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकत्ता में माझेरहाट ओवर ब्रिज गिरने से काफी मर्माहत थी। दौरे को बीच में ही रद्द कर बुधवार को कलकत्ता के लिए रवाना हो गई। दार्जिलिंग चौरास्ता में आयोजित कार्यक्रम के बाद वह सड़क मार्ग से शाम 3.30 बजे बागडोगरा पहुंचीं। यहां से विमान संख्या 6इ 534 से शाम 4.35 बजे कोलकाता के लिए रवाना हो गईं। मुख्यमंत्री एयरपोर्ट पर मौजूद समर्थर्को, पार्टी नेताओं और मीडिया कर्मियों का अभिवादन किया।

सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री मंगलवार की रात सो नहीं पाईं। पूरी रात घटनास्थल पर मौजूद अधिकारियों और मंत्रियों से पल-पल की जानकारी लेती रहीं। रात को खाना भी नहीं खा पाईं। बचाव कार्य का वीडियो रिकॉर्डिग कराने का निर्देश दिया। सीएम ने प्रयास के बावजूद विशेष विमान उपलब्ध नहीं होने पर मायूसी जताईं।

कोलकाता पहुंचकर मुख्यमंत्री सीधे माझेरहाट घटनास्थल जाएंगी और चले रहे राहत कार्य का जायजा लेंगी। वहां से अस्पताल जाकर घायलों का हालचाल लेंगी। नवान्न में घटना को लेकर बैठक भी करेंगी। इंजीनियरों से रिपोर्ट तलब की जाएगी। विपक्ष के आरोपों का भी जबाव देंगी। 

Posted By: Preeti jha