राज्य ब्यूरो, कोलकाता : महानवमी में बारिश के बाद पूजा पंडालों में दर्शनार्थियों की बौछार सी लग गई। उत्तर से दक्षिण कोलकाता तक पूजा पंडालों में लोगों की भारी भीड़ देखी गई। कारण, लोग विसर्जन से पहले पंडाल घूमने व देवी दुर्गा के दर्शन करने के इस आखिरी दिन चूकना नहीं चाहते थे। कोलकाता में हालांकि हर जगह बारिश नहीं हुई। कुछ जगहों पर छिटपुट बारिश हुई। इससे पहले महाअष्टमी की रात भी बारिश हुई थी। बारिश से दर्शनार्थियों का पूजा घूमने का उत्साह तनिक भी कम नहीं हुआ। शाम को थोड़ी देर बाद जैसे ही बारिश रुकी,, लोग घूमने निकल पड़े।

कोलकाता के चेतला अग्रणी, मुदियाली क्लब, संतोष मित्र स्क्वायर, मोहम्मद अली पार्क, एकडालिया एवरग्रीन, अहिरीटोला सार्वजनीन, कुम्हारटोली सार्वजनीन, त्रिधारा सम्मिलनी, कालेज स्क्वायर व श्रीभूमि स्पोर्टिंग क्लब में भारी भीड़ देखी गई, जिससे कोविड-19 नियमों की भी जमकर धज्जियां उड़ती दिखीं। बहुतों ने मास्क नहीं पहना था और उनके बीच परस्पर शारीरिक दूरी का भी अभाव था।

बंगाल सरकार ने हाल में परामर्श जारी किया था और लोगों से कोविड-19 के मामलों को बढ़ने से रोकने के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा नियमों का पालन करने का अनुरोध किया था। पिछले कुछ दिनों के दौरान कई दुर्गा पूजा पंडालों का उद्घाटन कर चुकीं बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी लोगों से मास्क लगाने की अपील की थी। कलकत्ता हाई कोर्ट ने इस साल पूजा पंडालों में ‘अंजलि’, ‘आरती’ और ‘सिंदूर खेला’ की अनुमति दी है लेकिन इस छूट की शर्त यह है कि निर्धारित संख्या से अधिक लोग न हो, उन्हें टीके की दोनों खुराक लग गई हो, और उन्होंने मास्क पहन रखा हो।

Edited By: Vijay Kumar