जागरण संवाददाता, कोलकाता। Kolkata International Film Festival 2019. 25वां कोलकाता अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (केआइएफएफ) का शुक्रवार को रंगारंग आगाज हुआ। बॉलीवुड के सुपरस्टार शाह रुख खान ने नेताजी इंडोर स्टेडियम में आयोजित भव्य समारोह में हजारों लोगों की उपस्थिति में दीप प्रज्ज्वलित कर इस फिल्मोत्सव का उद्घाटन किया। इस बार भी फिल्मोत्सव का उद्घाटन बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ही करने वाले थे, लेकिन स्वास्थ्य ठीक नहीं कारण वे यहां नहीं पहुंच पाए। ऐसे में उनकी अनुपस्थिति में शाह रुख खान के हाथों इसका उद्घाटन हुआ। इस अवसर पर शाह रुख खान ने लोगों को एक सूत्र में बांधने वाली फिल्में बनाने पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि हमें सिनेमा के जरिए उसी तरह की कहानियों को पेश करना चाहिए जो विविधता को लेकर एक-दूसरे पर सवाल नहीं खड़े करे बल्कि हमें एक सूत्र में बांधे। उन्होंने कहा कि वह बंगाल के ब्रांड एंबेस्डर के रूप में अपना दायित्व पूरी तरह से निभा रहे हैं। मौके पर अमेरिकी अभिनेत्री एंडी मैकडोएल भी उपस्थित थीं। उनके बारे में शह रुख ने कहा कि वे उनसे 26 साल की उम्र से प्यार करते हैं। उन्होंने मौजूद बीसीसीआइ के अध्यक्ष सौरभ गांगुली की प्रशंसा करते हुए कहा कि दादा ने ही उन्हें बंगाल की टीम केकेआर को खरीदने के लिए उत्साहित किया था। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की प्रशंसा करते हुए शाह रुख ने कहा कि देश का कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं है जो ममता दीदी को सम्मान नहीं करता। इनका सभी सम्मान करते हैं।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने फिल्मोत्सव के उद्घाटन पर महानायक अमिताभ बच्चन के नहीं पहुंच पाने पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के कारण वे नहीं आ सके, लेकिन मन से वे इस समारोह में उपस्थित हैं। मुख्यमंत्री ने बांग्ला फिल्म निर्माताओं द्वारा विविधता में दशकों से एकता के संदेश फैलाने के लिए उनकी सराहना की। साथ ही, उन्होंने कहा कि बंगाल कभी भी दूसरों के सामने अपना सिर नहीं झुकाएगा। बंगाल ने देश को कई पुरस्कार विजेता फिल्मनिर्माता एवं सबसे अधिक नोबेल पुरस्कार विजेता दिए हैं। देश को पुरस्कार विजेता फिल्म निर्माता देने के मामले में बंगाल पहले नंबर पर है। इस राज्य ने देश को सबसे ज्यादा नोबेल पुरस्कार विजेता भी दिए हैं। देश में वैज्ञानिक और सांस्कृतिक विकास में बंगाल नंबर वन है। ममता ने कहा हम सबके प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण रखते हैं। बंगाल सबको साथ लेकर चलता है। उन्होंने डटकर कर अपनी बात रखने के लिए फिल्म निर्माता महेश भट्ट की सराहना की।

सत्यजीत रे की फिल्म 'गोपी गाइन बाघा बायन' के प्रदर्शन से इस उत्सव का शुभारंभ किया गया। यह वर्ष इस फिल्म का 50वां वर्ष है। जर्मनी इस साल फिल्मोत्सव का फोकस है। उद्घाटन समारोह में उपस्थित प्रसिद्ध अभिनेत्री राखी गुलजार ने बांग्ला में बोलकर इस राज्य एवं बांग्ला भाषा पर गर्व जताया। मौके पर बॉलीवुड व टॉलीवुड की कई नामी- गिरामी हस्तियां मौजूद रहीं।

15 नवंबर तक चलने वाले इस प्रतिष्ठित फिल्म महोत्सव में 76 देशों की 214 फीचर फिल्में, 152 लघु फिल्में व वृत्तचित्र दिखाए जाएंगे। महोत्सव में 24 देशों की 65 फिल्मी हस्तियां भाग लेंगी और कोलकाता में 17 जगहों पर फिल्में दिखाई जाएंगी। इस फिल्मोत्सव में पहली बार दो थ्रीडी फिल्में दिखाई जाएंगी। प्रिया व बिजली सिनेमाघरों में उनका प्रदर्शन होगा।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप