कोलकाता, विशाल श्रेष्ठ। देखते-देखते दो दशक बीत गए लेकिन तापस ढाली के जेहन में इरफान सर से जुड़ी एक-एक याद ताजा है। 15 साल के तापस अब 35 के हो चुके हैं। ये वही तापस हैं, जिन्होंने राष्ट्रीय पुरस्कार जयी बाल फिल्म 'द गोल' में दिवंगत अभिनेता इरफान खान के साथ बतौर बाल कलाकार काम किया था। दिसंबर, 1999 में प्रदर्शित हुई इस फिल्म में इरफान तापस के फुटबॉल कोच बने थे।

कोलकाता से सटे बाटानगर के रहने वाले तापस ने कहा-'फिल्म की शूटिंग के दिनों की इन दिनों खूब याद आ रही है। इरफान सर सहज-सरल इंसान थे। हम बच्चों के साथ खूब हंसी-मजाक किया करते थे और उनकी जेब में हमेशा हमारे लिए चॉकलेट और टॉफियां हुआ करती थीं। उनके जैसे उम्दा कलाकार का अचानक इस तरह से चले जाना बेहद दुखद है।' एक दिलचस्प किस्सा बयां करते हुए तापस ने कहा-'शांतिनिकेतन के पास प्रांतिक रेलवे स्टेशन पर फिल्म के क्लाइमेक्स की शूटिंग चल रही थी।

इरफान के ट्रेन से लौट जाने का शॉट था। निर्देशक गुलबहार सिंह ट्रेन के लोको पायलट को थोड़ी दूर जाकर ट्रेन रोक देने की बात कहना भूल गए थे, इसलिए शॉट ओके होने के बाद भी लोको पायलट ने ट्रेन नहीं रोकी। ट्रेन प्लेटफार्म से निकलती जा रही थी। ये देखकर इरफान सर चलती ट्रेन से ही लगेज लेकर कूद गए। उनकी फिटनेस देखकर क्रू के सारे सदस्य दंग रह गए थे।' एक निजी कंपनी में बतौर सुपरवाइजरकाम करने वाले तापस ने अफसोस जाहिर करते हुए कहा-'फिल्म की शूटिंग खत्म होने के बाद मेरी इरफान सर से फिर कभी मुलाकात नहीं हो पाई, हालांकि उन्होंने मुझे अपना नंबर दिया था। जाते वक्त वे मुझसे कहकर गए थे कि जीवन में सही रास्ते से आगे बढ़ना। उनकी यह सीख हमेशा याद रखूंगा।'

तापस ने आगे कहा कि इरफान सर ने फिल्म में भले फुटबॉल कोच का किरदार निभाया, लेकिन उन्हें फुटबॉल खेलना बिलकुल नहीं आता था। बावजूद इसके उन्होंने किक लगाने वाला एक शॉट इतनी अच्छी तरह से दिया था, मानों सच में फुटबॉलर हों। वे क्रिकेट बहुत अच्छा खेलते थे। बाटा स्टेडियम में शूटिंग शुरू होने से पहले वे वहां सुबह की सैर करने आने वालों के क्रिकेट खेला करते थे।

अक्सर क्रिकेट खेलने में वे इतने मशगूल हो जाते थे कि सेट के लोगों को उन्हें शॉट के लिए बुलाना पड़ता था। फिल्म ही 80 फीसद शूटिंग बाटानगर में हुई थी।'तापस के पिता तपन कुमार ढाली सेवानिवृत्त पुलिस कर्मी और मां श्यामली ढाली गृहिणी हैं। परिवार में पत्नी दोलन और सात साल की बेटी आद्रिजा है। गौरतलब है कि 'द गोल' को काहिरा अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में भी पुरस्कार मिल चुका है। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस