कोलकाता, जागरण संवाददाता। भारत-पाक के बीच सीमा पर व्याप्त तनाव को देखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार ने कोलकाता की दो जेलों में बंद 14 पाक कैदियों की सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी है। उन्हें जेल की आम कोठरी से हटाकर उच्च सुरक्षा वाली कोठरी में स्थानांतरित कर दिया गया है।

जयपुर सेंट्रल जेल में 50 वर्षीय एक पाक कैदी की साथी कैदियों द्वारा कथित तौर पर हत्या किए जाने की घटना को देखते हुए भी यह कदम उठाया गया है। जेल विभाग के एक अधिकारी ने बताया-'सीमा पर व्याप्त तनाव एवं जयपुर की जेल में पाक कैदी की कथित तौर पर हत्या की घटना को देखते हुए पड़ोसी देश के कैदियों को अन्य कैदियों से अलग रखने के सख्त निर्देश दिए गए हैं।

उन्हें उच्च सुरक्षा वाली कोठरी में स्थानांतरित किया गया है, जहां अमेरिकन सेंटर पर आतंकी हमला मामले में गिरफ्तार किए गए आतंकियों एवं माओवादियों को रखा गया है। इन 14 पाक कैदियों के लिए त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरा तैयार किया गया है।' अधिकारी ने आगे कहा कि ज्यादातर कैदियों के एक-दूसरे के साथ अच्छे संबंध हैं लेकिन पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हुए आतंकी हमले की घटना को देखते हुए हम किसी तरह का जोखिम नहीं उठा सकते।

अधिकारी ने बताया कि कुछ पाकिस्तानी नागरिक वीजा संबंधी नियमों के उल्लंघन को लेकर सजा काट रहे हैं तो कुछ आपराधिक गतिविधियों में लिप्त होने के कारण जेल में बंद हैं। जेल अधिकारी उनके सेल पर चौबीसों घंटे कड़ी नजरदारी रख रहे हैं। चीफ हेड वार्डन के साथ-साथ हेड वार्डर भी पूरी तरह सतर्क हैं। गौरतलब है कि दमदम सेंट्रल जेल में 10 और प्रेसिडेंसी जेल में चार पाक कैदी हैं। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप