जागरण संवाददाता, कोलकाता : देश को भाषा के सूत्र में बांधने का उद्देश्य लिए हर साल 14 सिंतबर को हिदी दिवस मनाया जाता है। आधुनिक होते विश्व में हिदी कहां खड़ी है? आज के युवाओं में इसे लेकर भ्रम की स्थिति है। कुछ कहते हैं अंग्रेजी हमारी हिदी को खाए जा रही है जबकि कुछ ग्लोबल मार्केट में हिदी के बढ़ते दखल का हवाला देते हुए इसके मजबूत होने का दावा करते हैं।

इन्हीं सब प्रश्नों के बीच शनिवार को आदर्श शिक्षा निकेतन में हिदी दिवस का पालन किया गया। सुरेंद्रनाथ कालेज में हिदी के विभागाध्यक्ष मृत्युंजय पांडेय, वरिष्ठ शिक्षक अखिलेश सिंह व डॉ सुनीता राय बतौर अतिथि उपस्थित थे। इस मौके पर मृत्युंजय पांडेय ने बच्चों के बीच हिदी के सर्वप्रिय होने का कारण, कई उदाहरणों के साथ बच्चों को समझाया। उन्होंने हिदी दिवस के पालन के उद्देश्य के साथ इसकी परंपरा और इसको लेकर हो रही राजनीति पर भी प्रकाश डाला। इस मौके पर वरिष्ठ शिक्षक अखिलेश सिंह व डॉ सुनीता राय ने भी बच्चों को अपनी मातृ भाषा पर गर्व करते हुए इसके विकास के लिए सचेत रहने की बात कही।

कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए विद्यालय के प्रधानाध्यापक अरुण सिंह ने बच्चों को हिदी दिवस की महत्ता समझाते हुए इसके पालन का औचित्य बताया। शनिवार को हिदी दिवस के पालन के साथ विद्यालय में पिछले एक सप्ताह से चल रहे हिदी सप्ताह का भी समापन हुआ। इस दौरान विद्यालय में आयोजित हिदी आधारित कई प्रतियोगिताओं के विजेता छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप