कोलकाता, राज्य ब्यूरो। बंगाल में आगामी शुक्रवार से कड़े नियमों के साथ सरकारी स्कूल खोले जा रहे हैं। एक सख्त नियम यह बनाया गया है कि कोई भी विद्यार्थी किसी तरह का ताबीज पहनकर स्कूल नहीं आ पाएगा। फिलहाल नवीं से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू हो रही हैं।

मार्च महीने में उच्च माध्यमिक की प्रैक्टिकल परीक्षा होनी है। शिक्षा विभाग की ओर से कोरोना के मद्देनजर 52 पन्नों का एक स्वास्थ्य दिशा-निर्देश तैयार किया गया है, जिसे जिला शासकों के माध्यम से स्कूलों में भेजा जा रहा है। उसमें एक नियम यह है कि छात्र ताबीज पहनकर स्कूल नहीं आ पाएंगे। ताबीज को घर में ही खोलकर आना पड़ेगा। सोना-चांदी या अन्य तरह का धातु पहनकर भी स्कूल आने पर मनाही है। अंगूठी, चेन और चूड़ी पहनकर भी स्कूल नहीं आ सकेंगे। स्वास्थ्य दिशा-निर्देशों में आगे कहा गया है कि छात्र सहपाठियों के साथ अपना टिफिन शेयर नहीं करेंगे।

गौरतलब है कि लॉकडाउन के बाद करीब एक साल बाद स्कूल खुलने जा रहे हैं। राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में इस समय सफाई अभियान चलाया जा रहा है स्कूलों को सैनिटाइज किया जा रहा है। स्कूलों में आइसोलेशन होम की भी व्यवस्था की जा रही है। किसी शिक्षक अथवा छात्र के अचानक अस्वस्थ हो जाने पर उन्हें उस आइसोलेशन होम में रखा जाएगा और जरूरत पड़ने पर वहां से अस्पताल भेज दिया जाएगा। सिर्फ खाने-पीने की चीजें ही नहीं, फिलहाल कॉपी-किताब भी शेयर करने से मना किया गया है। स्कूल के मैदान में खेलने पर भी रोक लगाई गई है। कोरोना को लेकर जितने भी स्वास्थ्य संबंधी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, प्रत्येक स्कूल प्रबंधन को उनका अक्षरश: पालन सुनिश्चित करने को कहा गया है। शौचालय का इस्तेमाल करने के बाद बार-बार फ्लश करने को कहा गया है। जहां-तहां थूकने से भी मना किया गया है। 

Edited By: PRITI JHA