राज्य ब्यूरो, कोलकाता : कोलकाता में कोरोना टीकाकरण कैंप आयोजित करने वाले फर्जी आइएएस अधिकारी देबांजन देब का मामला अब राजनीतिक तूल पकड़ते जा रहा है। गिरफ्तार देबांजन देब के साथ ममता बनर्जी के मंत्री और टीएमसी नेताओं की तस्वीरें सामने आई हैं। इसे लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री देबश्री चौधरी ने आरोप लगाते हुए कहा कि बिना सत्ता की मदद से यह कैसे संभव हो सकता है।

बता दें कि इस मामले की जांच कोलकाता पुलिस के खुफिया विभाग ने शुरू कर दी है। इस कैंप में खुद टीएमसी की सांसद और अभिनेत्री मिमी चक्रवर्ती ने भी वैक्सीन ली थी। उनकी शिकायत के बाद पुलिस ने फर्जी आइएएस अधिकारी को गिरफ्तार किया है।

फर्जी आइएएस अधिकारी देबांजन के ट्वीटर अकाउंट में उसकी टीएमसी के कई मंत्रियों और नेताओं के साथ तस्वीरें हैं। इनमें मंत्री फिरहाद हकीम, मंत्री सुब्रत मुखर्जी से लेकर सांसद डॉ शांतनु सेन आदि शामिल हैं। हालांकि टीएमसी के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि ये तस्वीरें कार्यक्रमों के दौरान ली गई हैं। देबांजन के बारे में उनके पास कोई जानकारी नहीं हैं और न ही वे उसे जानते हैं।

केंद्रीय मंत्री ने टीएमसी पर साधा निशाना

-दूसरी ओर, केंद्रीय राज्य मंत्री और भाजपा सांसद देबश्री चौधरी ने कहा कि बिना सत्ता की मदद से यह कैसे संभव हो सकता है। इतने लोगों से अन्याय किया गया है। इसका स्वास्थ्य मंत्री को जवाब भी देना होगा।इतना ही नहीं कोलकाता के तालतला में रवींद्रनाथ टैगोर की प्रतिमा के अनावरण पर पट्टिका में मंत्रियों तथा तृणमूल नेताओं के साथ देबांजन का भी नाम है। भाजपा ने इसे लेकर भी तृणमूल पर निशाना साधा है।

केएमसी में नौकरी दिलाने के नाम पर ली थी लोगों की परीक्षा

-देबांजन के खिलाफ लोगों को कोलकाता नगर निगम (केएमसी) में नौकरी दिलाने का आरोप लगा है। घटना को लेकर तालतल्ला थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है। कई युवक-युवतियों ने देबांजन के खिलाफ उनके महत्वपूर्ण दस्तावेज रखने का आरोप लगाया है। नौकरी के लिए उन लोगों की परीक्षा भी ली गई थी। देबांजन कोलकाता नगर निगम के स्पेशल कमिश्नर तापस चौधरी के फर्जी मुहर तथा हस्ताक्षर के जरिए कोलकाता के कस्बा स्थित निजी बैंक में खाता भी खोल रखा था। इस सिलसिले में कोलकाता के न्यू मार्केट थाने में केएमसी की ओर से शिकायत दर्ज कराई गई है। इन खातों के लेनदेन के बारे में पुलिस जांच कर रही है। वहीं वैक्सीन असली थी या नकली इसकी भी जांच चल रही है।

Edited By: Vijay Kumar