राज्य ब्यूरो, कोलकाता। समाज के प्रति अपने कर्तव्यों को लेकर कोलकाता पुलिस ने हमेशा से ही अग्रणी भूमिका निभाई है। चाहे लॉकडाउन के समय गरीबों को भोजन कराना हो या फिर मुश्किल में फंसे बीमार मरीजों को अस्पताल पहुंचाना हो, कोलकाता पुलिस हर मोर्चे पर खरी उतरी है। अब समय के साथ कोलकाता पुलिस भी आधुनिकीकरण की ओर से बढ़ रही है। मौजूदा समय में पर्यावरण की रक्षा और ग्रीन एनर्जी को बढ़ाना देने के लिए कोलकाता पुलिस की ओर से बड़ी पहल की जा रही है।

सूत्रों के अनुसार, कोलकाता पुलिस के सभी पुलिस स्टेशन अब ग्रीन होंगे यानी पुलिस स्टेशन की लाइटें और पंखे सोलर एनर्जी के जरिए चलेंगे। सूत्रों के अनुसार हाल ही में कोलकाता पुलिस कमिश्नर सौमेन मित्रा ने सभी थाना प्रभारियों के साथ हुई बैठक के दौरान पुलिस स्टेशन को ग्रीन एनर्जी से लैस होने की चर्चा की। उन्होंने थाना प्रभारियों से कहा कि संभव हो तो थानों में सोलर एनर्जी का उपयोग किया जाए। अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो

पुलिस स्टेशन के ग्रीन होने का काम भी जल्द ही चालू हो जाएगा। हालांकि, इसकी पूरी प्रक्रिया बहुत जटिल है। संभावनाओं को तलाशने के लिए कोलकाता पुलिस की ओर से एक प्राइवेट संस्था की मदद ली जा रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार अगर थानों में सोलर एनर्जी चालू होने से बिजली बिल कम होता है तो उसके रुपये को इलाके के लोगों के स्कील डेवलपमेंट में इस्तेमाल किया जाएगा। खासतौर पर बस्ती इलाके के नौजवान और महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी, ताकि वह अपना रोजागर पा सकें और अपराधी बनने से बचें।

हर महीने प्रत्येक थाने का बिजली बिल आता है 40 से 50 हजार रुपये

पुलिस सूत्रों के अनुसार, पुलिस स्टेशन में सोलर इनर्जी की व्यावहारिकता को लेकर लेकर एक सर्वे किया जाएगा। इसकी जिम्मेदारी एक प्राइवेट संस्था को दी गई है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, अमूमन एक थाना में प्रत्येक महीने 40 से 50 हजार रुपये का बिजली बिल आता है। अगर सोलर एनर्जी पैनल थानों में लगाए जाते हैं तो इससे बिजली का बिल काफी काम आएगा और इससे बचने वाले रुपये कोलकाता पुलिस की ओर से किसी और जगह पर खर्च किया जा सकता है। सूत्रों के अनुसार थानों में सोलर इनर्जी के चालू होने को लेकर कई दिक्कतें हैं। खासतौर पर क्या सोलर इनर्जी थानों की बिजली की खपत का लोड उठा पाएगा, इसका मेंटेनेंस खर्च क्या हर महीने आने वाले बिजली बिल से अधिक या कम पड़ेगा। इसके अलावा बारिश के मौसम में किस तरह से बिजली का उपयोग होगा। सोलर एनर्जी के इंस्टॉलेशन में कितना खर्च आएगा। इन सभी चीजों को लेकर एक सर्वे किया जाएगा। उक्त सर्वे की रिपोर्ट आने के बाद ही पुलिस कमिश्नर द्वारा इस प्रोजेक्ट पर आगे कदम उठाया जाएगा।

कोलकाता पुलिस भी करेगी ई-व्हीकल का इस्तेमाल

पुलिस सूत्रों के अनुसार, जल्द ही कोलकाता पुलिस को ई-व्हीकल की खेप मिलने वाली है। सूत्रों की माने तो यह इलेक्ट्रिक कारें अधिकारियों के लिए होंगी। कोलकाता पुलिस अब पेट्रोल की खपत कम करने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीदारी पर जोर दे रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, पहले कुछ कारें आ रही हैं। बाद में और भी इलेक्ट्रिक वाहनों को कोलकाता पुलिस में शामिल किया जाएगा। 

Edited By: Priti Jha