कोलकाता , राज्य ब्यूरो। Earthquake West Bengal पश्चिम बंगाल से सटी भारत-बांग्लादेश सीमा पर बुधवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किये गये हैं। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 4.3 मापी गयी है। भूकंप का अहसास शुरू में नहीं हुआ, लेकिन थोड़ी देर बाद ही लोग घरों से बाहर निकलने लगे। फिलहाल इससे जान-माल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है, लेकिन वैज्ञानिकों ने आशंका जाहिर की है कि भूकंप के झटके दोबारा आ सकते हैं।

मौसम विभाग की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि रिक्टर स्केल पर भूकंप की की तीव्रता 4.3 मापी गयी है। बुधवार सुबह 7:10 बजे के करीब भूकंप के झटके महसूस किये गये। हालांकि इससे जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है। वैज्ञानिकों ने आशंका जतायी है कि झटके दोबारा आ सकते हैं। 

पश्चिम बंगाल से सटी भारत-बांग्लादेश सीमा पर बुधवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किये गये हैं। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 4.3 मापी गयी है। भूकंप का अहसास शुरू में नहीं हुआ, लेकिन थोड़ी देर बाद ही लोग घरों से बाहर निकलने लगे। फिलहाल इससे जान-माल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है, लेकिन वैज्ञानिकों ने आशंका जाहिर की है कि भूकंप के झटके दोबारा आ सकते हैं। अचानक जब धरती हिलने लगी थी, तो पहले तो लोगों को समझ में नहीं आया कि भूकंप आया है, लेकिन जब पंखे, टेबल, बिस्तर आदि डोलने लगे, तब लोग दौड़कर घरों से बाहर निकल आये। इस भूकंप की तीव्रता कम थी, इसलिए कोई नुकसान नहीं हुआ है। वैज्ञानिकों ने आशंका जतायी है कि झटके दोबारा आ सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि चक्रवात ने 20 मई को ही पश्चिम बंगाल में भारी तबाही मचाई थी, जिसमें 89 लोगों की मौत हो गई है और 6 करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं। इसके अलावा कोरोना महामारी भी यहां तेजी से फैलती जा रही है। आंकड़े 6000 के पार चले गये हैं। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस