राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल विधानसभा चुनाव में हार के बाद भाजपा में असंतोष बढ़ रहा है। इस कड़ी में अब कुछ भाजपा नेताओं ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर पार्टी के केंद्रीय पर्यवेक्षक कैलाश विजयवर्गीय और सह पर्यवेक्षक अरविंद मेनन को पद से हटाने की मांग की है। इन नेताओं ने विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार के लिए मुकुल, कैलाश व अरविंद की तिकड़ी को जिम्मेदार ठहराया है।

दरअसल मुकुल रॉय के तृणमूल कांग्रेस में लौटने के बाद प्रदेश भाजपा में नेता आवाज उठाने लगे हैं। वैसे भी मुकुल-कैलाश की जोड़ी को भाजपा का एक वर्ग हमेशा से नापसंद करता रहा है। हालांकि उन्होंने इससे पहले शाह जैसे किसी केंद्रीय नेता को आधिकारिक तौर पर सूचित नहीं किया था। अब आसनसोल जिला नेतृत्व के कुछ नेताओं ने शाह को पत्र लिखकर विजयवर्गीय और मेनन को पद से हटाने की मांग की है। उन्होंने चुनाव में भाजपा की हार और मुकुल की तृणमूल कांग्रेस में वापसी के मद्देनजर यह कदम उठाया है।

भाजपा नेताओं मुताबिक आसनसोल में कैलाश, मेनन और मुकुल के व्यवहार के कारण भाजपा को संभावित सीटें गंवानी पड़ी हैं। आसनसोल के एक भाजपा नेता ने दावा किया कि उनके पास अपने आरोपों के समर्थन में कुछ ऑडियो और वीडियो क्लिप हैं। दूसरी ओर इस बारे में भाजपा के प्रदेश महासचिव सायंतन बसु ने कहा कि पार्टी के नेता किसी भी मुद्दे पर केंद्रीय नेतृत्व को पत्र ही भेज सकते हैं।

बताते चलें कि चुनाव में हार के बाद भाजपा में विरोध की आवाज उठने लगी है। कुछ दिनों पहले पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं ने विधानसभा चुनाव में हार को लेकर हुगली में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था। हालांकि इस घटना को लेकर पूर्व जिलाध्यक्ष सुबीर नाग को शो कॉज किया गया था।

Edited By: Vijay Kumar