राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल में ठंड ने जोरदार तरीके से वापसी की है। मकर संक्रांति के बाद जहां तापमान धीरे-धीरे बढ़ना शुरू हो जाता है, वही बंगाल में यह तेजी से कम होना शुरू हुआ है। अलीपुर मौसम कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को कोलकाता में न्यूनतम तापमान 13.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जो सामान्य से एक डिग्री कम है, वहीं अधिकतम तापमान भी 23.3 डिग्री सेल्सियस पर सामान्य से तीन डिग्री नीचे रहा। अगले 24 घंटों के दौरान भी कोलकाता में अधिकतम व न्यूनतम तापमान के इसी स्तर पर टिके रहने का अनुमान है।

मौसम कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि एक बार फिर 'पश्चिमी झंझावात' के प्रभाव के कारण ठंड कम हो गई थी लेकिन अब यह हट चुका है और मौसम साफ हो गया है इसलिए उत्तर से ठंडी हवाएं फिर से बंगाल में घुसनी शुरू हो गई है। आगे कोई रुकावट नहीं आई तो ठंड अपने आखिरी दौर में अच्छी पारी खेलकर जा सकता है। कोलकाता में आने वाले दिनों में पारा और नीचे आ सकता है। कोलकाता के साथ-साथ बंगाल के विभिन्न जिलों में भी ठंड काफी बढ़ गई है। सुबह के वक्त घने कोहरे का भी जाल फैलता जा रहा है। उत्तर बंगाल के जिले तो पूरी तरह ठंड की गिरफ्त में हैं।

गौरतलब है कि इस बार चक्रवात, पश्चिमी झंझावात व निम्न दबाव के कारण बंगाल में ठंड की राह में कई बार रुकावट आ चुकी है। जब-जब ठंड बढ़नी शुरू हुई. तब-तब इनके कारण उसपर ब्रेक लगा। 

गौरतलब है कि भारत के कई राज्यों में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। इसी बीच भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने संकेत दिए हैं कि अभी ठंड का सितम और बढ़ेगा, इतना ही नहीं कई इलाकों में बारिश का भी अनुमान लगाया गया है। विभाग ने मंगलवार को पूर्वानुमान लगाया कि अगले 24 घंटों के दौरान दिन के तापमान में और कमी आने की संभावना है और उत्तर पश्चिम भारत में 21 से 23 जनवरी के बीच बारिश हो सकती है। इस प्रकार कई इलाकों में ठंड का प्रकोप और बढ़ेगा।

Edited By: Priti Jha