राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल विधानसभा चुनाव में हिंसा के विरोध में भाजपा विधानसभा अध्यक्ष के लिए चुनाव का बायकाट करने की घोषणा की है। भाजपा स्पीकर पद के लिए चुनाव में अपना उम्मीदवार खड़ा नहीं करेगी। इस तरह से शनिवार को तीसरी बार बंगाल विधानसभा अध्यक्ष के रूप में बिमान बनर्जी का निर्विरोध निर्वाचित होना लगभग तय है। तृणमूल ने पहले ही बिमान बनर्जी को अध्यक्ष बनाने की घोषणा कर रखी है। 2011 से लगातार तीसरी बार बिमान बनर्जी अध्यक्ष बनेंगे।

बता दें कि राज्य सरकार ने शनिवार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है। राज्यपाल जगदीप धनखड़ के अभिभाषण के साथ यह सत्र शुरू होगा। विधानसभा चुनाव के बाद यह पहला सत्र होगा। उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने 213 सीटें जीतकर तीसरी बार सरकार में लौटी है, जबकि भाजपा 77 सीटें जीतकर मुख्य विपक्षी दल के रूप में उभरी है।

इधर, शुक्रवार को विधानसभा परिसर में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने नवनिर्वाचित विधायकों के साथ बैठक की। हालांकि बैठक में भाजपा के नवनिर्वाचित विधायक व कद्दावर नेता मुकुल रॉय और सुवेंदु अधिकारी उपस्थित नहीं थे। दिलीप घोष ने राजनीतिक हिंसा की निंदा करते हुए कहा कि हिंसा के कारण भाजपा अध्यक्ष पद के चुनाव में शिरकत नहीं करेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि विधानसभा के विपक्ष के नेता के बारे में पार्टी की संसदीय कमेटी निर्णय लेगी।

लगातार दूसरे दिन नवनिर्वाचित विधायकों को दिलाई गई शपथ

इधर, लगातार दूसरे दिन नवनिर्वाचित विधायकों को प्रोटेम स्पीकर सुब्रत मुखर्जी ने विधानसभा में सदस्य पद की शपथ दिलाई। शुक्रवार को भाजपा विधायक मुकुल रॉय, निशिथ प्रमाणिक, अग्निमित्रा पॉल व अन्य ने शपथ ली।इस दिन बांकुड़ा, पुरुलिया, बीरभूम, पूर्व व पश्चिम बर्द्धमान, नदिया, मालदा, मुर्शिदाबाद, दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी, अलीपुरद्वार, कूचबिहार, उत्तर दिनाजपुर और दक्षिण दिनाजपुर जिले समेत गुरुवार को जिन विधायकों ने शपथ नहीं ली थी उन्होंने शपथ ली और सदस्यता ग्रहण किया।