कोलकाता, जागरण संवाददाता। कोलकाता में भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं ने ममता सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया है। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया है।बिजली के दामों में हुई बढ़ोतरी के खिलाफ कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं।  

जानकारी हो कि बीरभूम जिले के नानूर के मृत भाजपा कार्यकर्ता स्वरूप गोराई के शव को छिपाने को लेकर भाजपा पुलिस के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर करने की तैयारी कर ली है। मंगलवार को मुहर्रम की वजह से हाईकोर्ट बंद होने पर भाजपा बुधवार को याचिका दायर करेगी।

उधर, कोलकाता में भाजपा कार्यकर्ताओं ने ममता सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया है। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया है। बिजली के दामों में हुई बढ़ोतरी के खिलाफ कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं।

बिजली की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ आज प्रदर्शन कर रहे भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बल प्रयोग किया। लाठीचार्ज में कई कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए है। पुलिस के प्रहार से एक कार्यकर्ता का सिर फट गया।

भाजयुमो नेताओं के अनुसार कई कार्यकर्ता घायल हो गए हैं। इनमें 5 की हालत गंभीर है। घायलों को कलकत्ता मेडिकल कॉलेज व अस्पताल तथा विशुद्धानंद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। भारतीय जनता युवा मोर्चा के आह्वान पर कार्यकर्ता विक्टोरिया हाउस स्थित सीईएससी मुख्यालय की ओर बढ़ रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें सेंट्रल एवेन्यू में रोक दिया।

भाजपा कार्यकर्ता बैरिकेड तोड़कर आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे थे तभी पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज किया और पानी का तेज बौछार किया। इस दौरान आंसू गैस भी छोड़े गए। पुलिस के साथ भाजपा कार्यकर्ताओं की धक्का-मुक्की शुरू हो गई। देखते ही देखते इलाका रणक्षेत्र में तब्दील हो गया।

मौके से पुलिस में भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष देवजीत सरकार तथा भाजपा के प्रदेश महासचिव राजू बनर्जी सहित करीब एक सौ कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। भाजयुमो का आरोप है कि उनके कार्यकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन पर लाठियां बरसाईं। कई कार्यकर्ता घायल हो गए हैं।एक कार्यकर्ता का सिर फट गया है उसे गंभीर स्थिति में अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पुलिस पर शव छिपाने का आरोप, हाईकोर्ट जाएगी भाजपा 

बता दें कि स्वरूप के पार्थिव शरीर को एनआरएस अस्पताल से प्रदेश भाजपा कार्यालय नहीं लाने देने के पुलिस के फैसले से नाराज परिजनों व भाजपा नेताओं ने शव लेने से इन्कार कर दिया था। इधर, पुलिस की ओर से मृतक के घर के बाहर एक नोटिस लगाया गया है, जिसमें लिखा गया है कि मृतक के परिजनों द्वारा शव लेने से इन्कार करने की वजह से उसे फिलहाल अस्पताल के शवगृह में रखा गया है।

वहीं इसके उलट मृतक के परिजनों का आरोप लगाया है कि वे स्वरूप के पार्थिव शरीर को प्रदेश भाजपा कार्यालय ले जाना चाहते थे लेकिन पुलिस ने इसकी अनुमति नहीं दी। इसके बाद उन्होंने शहर के एंटाली थाने में पुलिस पर शव चोरी का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। वहीं भाजपा इस मामले में अदालत का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है।

उल्लेखनीय है कि स्वरूप गोराई बीरभूम जिले के नानूर विधानसभा के रामकृष्णपुर ब्लॉक भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता थे। गत शनिवार को तृणमूल के समर्थकों ने उन पर हमला किया, जिसमें वह बुरी तरह से घायल हो गए थे। इसके बाद उन्हें कोलकाता के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहा उनकी मौत हो गई थी। 

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस