जागरण संवाददाता, कोलकाता। नारद स्टिंग कांड में पूछताछ के लिए सीबीआइ का नोटिस मिलने के बावजूद भाजपा नेता मुकुल राय पेश नहीं हुए। उन्होंने पार्टी के कार्यक्रम में व्यस्त होने का हवाला देकर दो अक्टूबर तक की मोहलत मांगी। सीबीआइ ने उनकी गुहार को खारिज कर एक दिन की मोहलत देते हुए शनिवार को हर हाल में हाजिर होने का निर्देश दिया है।

बता दें कि बीते गुरुवार को सीबीआइ ने नारद स्टिंग मामले में आइपीएस अधिकारी सैय्यद मोहम्मद हुसैन मिर्जा को गिरफ्तार किया था। मिर्जा पर वर्ष 2014 में ब‌र्द्धमान के पुलिस अधीक्षक रहने के दौरान सत्ताधारी पार्टी के नेताओं के लिए मोटी रकम लेने का आरोप है। वीडियो फुटेज में नारद के सीइओ एवं संपादक मैथ्यू सैमुअल के रुपये के बाबत बातचीत करते एवं रुपये लेते हुए दिखाया गया है। साथ ही फोन पर किसी ने मिर्जा को रकम पहुंचाने एवं मिर्जा द्वारा रुपये किसी स्थान पर भेजने का निर्देश देते हुए भी फुटेज में दिखाया गया था। उधर, एक अन्य वीडियो फुटेज में तृणमूल कांग्रेस में रहने के दौरान मुकुल राय को आइपीएस मिर्जा का नाम लेते हुए सुना गया था।

सूत्रों के अनुसार सीबीआइ नारद कांड में शामिल प्रभावशालियों के नाम जानने के लिए गिरफ्तार मिर्जा और वर्तमान में भाजपा नेता मुकुल राय को आमने सामने बैठाकर पूछताछ करना चाहती है जिसके लिए सीबीआइ ने मुकुल को नोटिस भेजकर शुक्रवार को निजाम पैलेस में हाजिर होने का निर्देश दिया था। पेश होने की बजाए मुकुल ने अपने प्रतिनिधि के हाथों सीबीआइ को पत्र भेजकर 2 अक्टूबर तक का समय मांगा है।

पत्र में हवाला दिया गया कि कोलकाता में भाजपा के कार्यक्रम और पार्टी के केंद्रीय नेताओं की उपस्थिति के चलते वह व्यस्त रहेंगे। चूंकि मिर्जा की रिमांड अवधि 30 सितंबर को समाप्त हो रही है, इसलिए सीबीआइ किसी भी हाल में मुकुल को लंबी मोहलत देने के मूड में नहीं है। यही वजह है कि सीबीआइ ने दूसरा नोटिस देकर मुकुल राय को हाल हाल में शनिवार को हाजिर होने का निर्देश दिया है। इस बाबत मुकुल राय का कहना है कि यदि सीबीआइ तैयार हो तो वह शनिवार दोपहर ढाई बजे के बाद हाजिर हो सकते हैं।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप