राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल सरकार की ओर से लॉकडाउन संबंधी पाबंदियों में ढील के बाद राज्य में करीब एक महीने बाद बुधवार को शॉपिंग मॉल समेत रेस्टोरेंट व बार के ताले खुले। इसके कारण शॉपिंग मॉल व रेस्टोरेंट के बाहर थोड़ी चहल-पहल देखी गई। हालांकि सार्वजनिक परिवहन सेवा पर रोक के कारण कोलकाता, हावड़ा समेत अन्य शहरों में बहुत कम ही लोगों को मॉल व रेस्टोरेंट में जाते देखा गया। वहीं, इस दिन प्राइवेट व कॉरपोरेट दफ्तर भी 25 फीसद कर्मचारी क्षमता के साथ खुला।

आज से 25 फीसद कर्मचारियों के साथ सरकारी दफ्तरों के भी खुलने की बात थी लेकिन राज्य सरकार द्वारा जमाई षष्ठी की छुट्टी घोषित किए जाने के कारण अब गुरुवार से सरकारी दफ्तर खुलेंगे।इधर, बंगाल सरकार की ओर से शूटिंग की अनुमति मिलने के बाद बुधवार को टीवी सीरियलों और फिल्मों की शूटिंग भी फिर से शुरू हुई।वेस्ट बेंगाल मोशन पिक्चर्स आर्टिस्ट्स फोरम के एक प्रवक्ता ने बताया कि महानगर के टॉलीगंज क्षेत्र के सभी चार स्टूडियो में शूटिंग शुरू हुई। दूसरी ओर, दर्शकों के बिना विभिन्न स्टेडियमों के अंदर खेल गतिविधियों व प्रतियोगिताओं का आयोजन भी इस दिन शुरू हुआ।

कोलकाता सहित विभिन्न शहरों में पार्क के भी ताले खुले। हालांकि जिन लोगों को कोविड-19 का टीका लग गया है उन्हें ही पार्क में जाने की अनुमति है। उल्लेखनीय है कि राज्य में 16 मई से ही लॉकडाउन चल रहा है।कोरोना के मामलों पर काबू पाने के लिए लॉकडाउन की अवधि को राज्य सरकार ने हाल में एक जुलाई तक बढ़ाने की घोषणा की। हालांकि ममता सरकार ने 16 जून से कुछ क्षेत्रों में लॉकडाउन से छूट दी है।इसके तहत कुछ शर्तों के साथ रेस्टोरेंट व बार को 50 फीसद ग्राहक क्षमता के साथ दोपहर 12 से रात आठ बजे तक खोलने की अनुमति दी गई है। साथ ही शॉपिंग मॉल को खोलने की भी अनुमति दी गई है। सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक मॉल को खुला रखा जा सकता है। इस दौरान 30 फीसद ग्राहकों को ही मॉल में प्रवेश करने की अनुमति दी गई है। हालांकि राज्य में परिवहन सेवाओं- लोकल ट्रेनें, बस, मेट्रो व जलपथ परिवहन पर पाबंदी जारी है। इसके कारण मॉल व रेस्टोरेंट खुलने के बावजूद बहुत लोग नहीं जा पा रहे हैं।

एक माह बाद तारापीठ मंदिर भी खुला

दूसरी ओर, करीब एक महीने बाद बीरभूम जिले में स्थित प्रमुख शक्तिपीठों में एक तारापीठ मंदिर का पट भी बुधवार को भक्तों के लिए खुला। मंदिर खुलने से भक्तों, स्थानीय दुकानदारों एवं पुजारियों में खुशी देखी गई। मंदिर प्रबंधन ने शारीरिक दूरी समेत कोविड प्रोटोकॉल का पालन के साथ मंदिर में भक्तों को प्रवेश की इजाजत दी है। पहले दिन इसका कड़ाई से पालन किया गया।

Edited By: Vijay Kumar