राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल सरकार ने 10वीं और 12वीं (माध्यमिक व उच्च माध्यमिक परीक्षा) के परीक्षार्थियों के लिए मूल्यांकन पद्धति का एलान कर दिया है। बंगाल बोर्ड के परिणाम के लिए 10वीं कक्षा की मार्कशीट में कक्षा 9 और कक्षा 10 का आंतरिक मूल्यांकन किया जाएगा। उसके परिणाम के आधार पर इन छात्रों का मूल्यांकन किया जाएगा। इस विधि से छात्रों के मूल्यांकन में दोनों को 50-50 का वेटेज दिया जाएगा, वहीं 12वीं का परिणाम 10वीं कक्षा के शीर्ष चार विषयों के 40 फीसद वेटेज और कक्षा 11(सैद्धांति) + 12वीं कक्षा का (व्यवहारिक) की सालाना परीक्षा को 60 फीसद वेटेज देते हुए तैयार किया जाएगा।

अगर कोई छात्र अपने रिजल्ट से संतुष्ट नहीं होगा तो उसे महामारी के बाद अनुकूल स्थिति होने के बाद एक बार फिर से परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाएगा। शुक्रवार शाम को पश्चिम बंगाल बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के मूल्यांकन का दायरा जारी कर दिया है। पिछले दिनों पश्चिम बंगाल बोर्ड ने कोरोना महामारी के चलते बोर्ड परीक्षाओं को रद करने का फैसला किया था।

तब से लगातार छात्रों के परिणाम के दायरे को लेकर तेजी से मंथन चल रहा था। फिलहाल पश्चिम बंगाल बोर्ड ने 10वीं के छात्रों के लिए 50: 50 फॉर्मूला और 12वीं के छात्रों के लिए 40: 60 फॉर्मूला तैयार किया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गत सोमवार को मीडिया से बातचीत में कहा था कि राज्य के संबंधित बोर्ड कक्षा 10 और 12 की परीक्षाओं में शामिल होने वाले उम्मीदवारों की मूल्यांकन प्रक्रिया पर फैसला करेंगे।

Edited By: Vijay Kumar