राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल में भाजपा की प्रदेश इकाई ने अब अपने सूचना प्रौद्योगिकी (आइटी) विंग में सांगठनिक फेरबदल करते हुए 11 जिलों में नए आइटी इंचार्ज की नियुक्ति की है। पार्टी के प्रदेश आइटी इंचार्ज जाय मलिक ने बुधवार को नई नियुक्ति से संबंधित आदेश जारी कर इसकी जानकारी दी। इसके अनुसार, कोलकाता नार्थ उपनगरीय, उत्तर कोलकाता, दक्षिण कोलकाता, दक्षिण 24 परगना (पूर्व), डायमंड हार्बर, जयनगर, मथुरापुर, हावड़ा टाउन, हावड़ा ग्रामीण, श्रीरामपुर व हुगली सांगठनिक जिले में नए आइटी इंचार्ज की नियुक्ति की गई है।

देवजीत मुखर्जी को कोलकाता नार्थ उपनगरीय, आनंद सिंह खरवार को उत्तर कोलकाता, पवन कुमार शर्मा को दक्षिण कोलकाता, दिव्यजीत सेन को दक्षिण 24 परगना (पूर्व), सौरभ मंडल को डायमंड हार्बर, अंतु बैरागी को जयनगर, सुमित आदक को मथुरापुर, शिवाशीष मुखर्जी को हावड़ा टाउन, भुवन प्रमाणिक को हावड़ा ग्रामीण, अविक सेनगुप्ता को श्रीरामपुर व जाय घोष को हुगली सांगठनिक जिले का आइटी प्रभारी नियुक्त किया गया है।

बता दें कि अंतर्कलह व नेताओं के पलायन से इस समय बंगाल भाजपा संकट के दौर से गुजर रही है। इन सबके बीच बंगाल में पार्टी के संगठन को मजबूत करने के लिए अगले महीने भाजपा के कई केंद्रीय मंत्री व शीर्ष नेता भी राज्य के दौरे पर आ रहे हैं। इनमें स्मृति ईरानी, निर्मला सीतारमण, एस जयशंकर, किरन रिजिजू, नरेंद्र सिंह तोमर, अर्जुन मुंडा और धर्मेंद्र प्रधान शामिल हैं। भाजपा के ये शीर्ष नेता अपने दौरे के दौरान केंद्रीय परियोजना को बढ़ावा देने के साथ जनसंपर्क भी बढ़ाएंगे। इन नेताओं का कार्यक्रम राज्य में 15 जुलाई तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। पहले चरण में स्मृति ईरानी, धर्मेंद्र प्रधान, किरन रिजिजू राज्य का दौरा करेंगे।

दरअसल राज्य में पिछले साल विधानसभा चुनाव के बाद जिस तरह से प्रदेश भाजपा में गुटबाजी सामने आई है, केंद्रीय नेतृत्व इसको लेकर काफी गंभीर। केंद्रीय नेतृत्व 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए अभी से बूथों को मजबूत करने और सांगठनिक मजबूती पर जोर दे रहा है। बीते सोमवार को भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी प्रदेश की हारी हुई और कमजोर लोकसभा सीटों के पर्यवेक्षकों और संयोजकों के साथ यहां बैठक की थी। 

Edited By: Priti Jha