जागरण संवाददाता, कोलकाता। केंद्रीय पर्यावरण व वन राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो ने जादवपुर विश्वविद्यालय में उनके खिलाफ प्रदर्शन करने वालों को 'कायर' व 'गुंडा' बताते हुए शुक्रवार को कहा कि उन्हें मानसिक इलाज की जरूरत है, ताकि वे छात्रों की तरह व्यवहार कर सके।

जेयू में अपने साथ हुई बदसलूकी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए बाबुल ने कहा कि मुझे पर हमला करने वालों में कौन शामिल थे, इसका बहुत जल्द पता चल जाएगा। इन कायरों को जेयू की छवि को धूमिल करने नहीं दिया जाएगा..आपको हम तलाश लेंगे। चिंता मत कीजिए, आपके साथ उस तरीके से पेश नहीं आया जाएगा, जैसे आप मेरे साथ आए। हम आपका मानसिक इलाज करेंगे, ताकि आप और आपके गुंडे दोस्त उस तरह से व्यवहार करें जैसा छात्रों को करना चाहिए।

उनके बाल खींच रहे एक छात्र की तस्वीर की ओर इशारा करते हुए सुप्रियो ने एक अन्य ट्वीट कर यह सवाल किया कि ममता बनर्जी की अगुआई वाली तृणमूल कांग्रेस सरकार उन पर हमला करने वाले छात्रों के खिलाफ क्या कदम उठाएंगी?

गौरतलब है कि बाबुल सुप्रियो को जेयू में गुरुवार को काले झंडे दिखाए गए थे और कुछ छात्रों ने उनके साथ बदसलूकी की थी। बाबुल को कैंपस से बाहर निकलने से भी रोका गया गया। घटना की खबर पाकर राज्यपाल जगदीप धनखड़ जेयू पहुंचे थे। वहां उनकी कार का भी घेराव किया गया था। सुप्रियो भाजपा के छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) द्वारा आयोजित एक संगोष्ठी को संबोधित करने जेयू पहुंचे थे। राज्यपाल जो जेयू के कुलाधिपति भी हैं, उन्हें भी एसएफआइ, एएफएसयू, आइसा समेत वामपंथी विचारधारा से जुड़े संगठनों और तृणमूल कांग्रेस के छात्र संगठन (टीएमसीपी) के कुछ सदस्यों के विरोध का सामना करना पड़ा था।

यह भी पढ़ेंः केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो पर जादवपुर यूनिवर्सिटी में हमला, छात्रों ने छह घंटे तक घेरे रखा

 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप