जागरण संवाददाता, कोलकाता : इडेन गार्डेंस स्टेडियम के पास रविवार को सेना का झंडा फहराए जाने को लेकर तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। झंडा फहराए जाने के ठीक एक दिन पहले शनिवार को यहां भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं द्वारा पाकिस्तानी खिलाड़ियों की तस्वीर स्टेडियम से हटाए जाने की मांग को लेकर विरोध-प्रदर्शन किया गया था। स्टेडियम के बाहर सेना का झंडा फहराए जाने को लेकर कई सवाल उठ रहे हैं। सबसे अहम बात यह है कि स्टेडियम के इर्द-गिर्द पड़ने वाला समूचा इलाका सेना के अधिकार क्षेत्र में आता है और बंगाल क्रिकेट संघ ने इडेन गार्डेंस स्टेडियम समेत अन्य मैदानों को सेना से लीज पर ले रखा है। इतना ही नहीं, यहां किसी भी कार्यक्रम व विरोध-प्रदर्शन करने के लिए सेना से अनुमति लेनी पड़ती है। यहां तक कि क्रिकेट मैचों के आयोजन के लिए भी सेना से औपचारिक अनुमति लेनी पड़ती है। भाजपा ने बिना सेना की अनुमति लिए ही यहां विरोध-प्रदर्शन किया था। और तो और, पुलिस ने भी इससे संबंधित जानकारी सेना को नहीं दी थी। ऐसे में रविवार को स्टेडियम के पास सेना का झंडा फहराया जाना कई सवाल पैदा कर रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस