जागरण संवाददाता, कोलकाता: बाजारों में दुर्गापूजा की गहमागहमी चरम पर है। इन सबके बीच जाली नोटों का धंधा करने वाले तस्कर भी सक्रिय हैं। परंतु, सुरक्षा एजेंसियां भी पूरी तरह से मुस्तैद है। इसका एक उदाहरण गुरुवार को सामने आया जब कोलकाता पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने सियालदह स्टेशन के निकट से 3.58 लाख के जाली नोट के साथ तीन तस्करों को दबोच लिया। इन आरोपित तस्करों का नाम रणबीर उर्फ सेक्रेटरी (45), विकास (28) और सोनू सिंह (28) हैं। तीनों आरोपित हरियाणा के रोहतक के निवासी हैं।

एसटीएफ के उपायुक्त शुभंकर सिन्हा सरकार ने बताया कि 18 सितंबर को तमिलनाडु के रहने वाले राजू वी काचीपुरम नाम के एक जाली नोट तस्कर को गिरफ्तार किया गया था। वह तमिलनाडु से कोलकाता आया था। इस समय वह पुलिस की हिरासत में जब उससे पूछताछ की गई तो इन तीनों के बारे में जानकारी मिली। इसके बाद से एसटीएफ इन तीनों को तलाश रही थी। जैसे ही वे सियालदह स्टेशन पर उतरे, एसटीएफ की टीम ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

उन्होंने बताया कि तीनों के पास से 2000 रुपये के 179 नोट मिले जिसकी बारीकी से जांच की गई तो पता चला कि वे सभी जाली है। इन लोगों को जाली नोट कहां से मिला इसकी भी जांच की जा रही है।

तीनों ने बताया है कि ये लोग अंतरराज्यीय नोट तस्करी गिरोह के सदस्य हैं। इनसे पूछताछ कर इनके अन्य साथियों के बारे में पता लगाने की कोशिश की जा रही है। इन सभी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी, 489 बी और 489 सी के तहत मामला दर्ज कार्रवाई की जा रही है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप