राज्य ब्यूरो, कोलकाता। दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के सीमावर्ती इलाके से सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने अलग-अलग जगहों से गैर कानूनी तरीके से सीमा पार करते हुए सात बंग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया है, जिनमें दो महिलाएं व एक बच्ची भी हैं। इनमें से तीन बांग्लादेशी नागरिकों को भारत से बांग्लादेश जाते हुए पकड़ा तथा चार बांग्लादेशियों को अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर भारत में आते हुए गिरफ्तार किया गया।

बीएसएफ की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि मालदा जिले के सीमावर्ती इलाके में तैनात सीमा चौकी खंडुआ, 78वीं बटालियन के जवानों ने दो बांग्लादेशियों को अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करते हुए गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान मामून शेख और हबीब शेख के रूप में हुई। दोनों ने बांग्लादेश के चपाईनवाबगंज जिले के घोठपारा गांव का रहने वाला बताया। वहीं, दूसरी घटना उत्तर 24 परगना जिले के सीमावर्ती इलाके में तैनात 112वीं बटालियन के जवानों ने अपने बॉर्डर के इलाके में ऑपरेशन चलाकर पांच बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया। जिनमें दो पुरुष, दो महिला सहित एक बच्चा शामिल है। इनकी पहचान मिनल बिस्वास (26), शेख अशरफुल आलम निजाम (30), बिलकिस सेख (26) आफिया सेख और एक 14 साल की बच्ची है। ये सभी बांग्लादेश के अलग-अलग जिले के रहने वाले हैं।

12 साल पहले भारत आई थी बांग्लादेशी महिला

पूछताछ करने पर इनमें से बिकीश शेख ने खुलासा किया कि वह 12 साल पहले भारत में आई थी, और यहां आने के बाद ही फिरोज शेख नाम के भारतीय से शादी कर ली थी। डेढ़ साल पहले वह अपने घर बांग्लादेश गई थी और आज वापस अपनी बेटी के साथ भारत आ रही थी तो बीएसएफ ने पकड़ लिया।

 सीमा पार कराने के लिए दलाल को दिए थे 10,000 रुपये

महिला ने यह भी बताया कि उसने अनारुल नाम के भारतीय दलाल को सीमा पार करने के लिए 10 हजार रुपये दिए थे। वहीं सीमा चौकी खंडुआ में पकड़े गए हबीब शेख ने बताया की वह ओडिशा के कटक में राजमिस्त्री का कार्य करता है तथा भारतीय दलाल कबीर शेख की मदद से वापस बंग्लादेश जा रहा था, जिसके लिए उसने दलाल को 5000 रुपये दिए थे, लेकिन जाते समय सीमा सुरक्षा बल ने उसे पकड़ लिया। गिरफ्तार किए गए सातों बांग्लादेशी नागरिकों को आगे की कानूनी कार्यवाही हेतु संबंधित पुलिस स्टेशन को सौप दिया गया है।

Edited By: Babita Kashyap