- सुरक्षा कर्मियों को धोखा देने के लिए पहन रखी थी सेना की वर्दी

- अधिकारियों के कामकाज और महत्वपूर्ण दस्तावेज देखने की कोशिश

जागरण संवाददाता, विधाननगर : विधाननगर दक्षिण थानांतर्गत सॉल्टलेक स्थित सीआरपीएफ भवन में जासूसी के आरोप में दो युवकों को गिरफ्तार किया गया है। उनके नाम केशव मजूमदार और सनातन दास है। इसमें केशव खुद को अमेरिकी सेना का ट्रेनर बता रहा था, जबकि सनातन खुद को भारतीय सेना का कर्मी बता रहा था। दोनों को बुधवार की शाम सीआरपीएफ भवन परिसर से ही गिरफ्तार किया गया। इनके खिलाफ भारतीय दंड विधि की धारा 448, 419, 170 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। गुरुवार को दोनों को विधाननगर महकमा अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। पुलिस दोनों से पूछताछ कर वर्जित क्षेत्र में संदिग्ध हालत में प्रवेश करने के मंसूबों और अति सुरक्षा वाले क्षेत्र में सुरक्षा कवच तोड़ कर घुसने के तरीकों का पता लगाने में जुट गई है।

जानकारी के मुताबिक मंगलवार की शाम केशव और सनातन अचानक सीआरपीएफ भवन में प्रवेश किए। दोनों सेना की वर्दी भी पहने हुए थे। वहां कार्यरत लोगों से केशव जानने की कोशिश करने लगा कि कौन अधिकारी-कर्मचारी कहां और किस पद पर काम करता है। वहीं, सनातन सेना का जवान बताते हुए जबरन दफ्तर में घुस गया और वहां के जरूरी दस्तावेज दिखाने का निर्देश देने लगा। वहां ऐसा करने से रोकने पर वहां कार्यरत कर्मचारियों को धमकियां देने लगा। इस पर सीआरपीएफ कर्मियों की उनकी गतिविधियां देख संदेह हुआ। दोनों से उनका पहचान पत्र दिखाने को कहा गया, तो वे दिखा नहीं सके। इसके बाद इसकी सूचना विधाननगर दक्षिण थाने को दी गई। कुछ देर में ही पुलिस भी पहुंच गई और दोनों को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से सेना लिखी मोटरसाइकिल जब्त की गई। प्राथमिक पड़ताल के बाद पुलिस को संदेह है कि केशव और सनातन किसी विशेष मकसद के तहत सीआरपीएफ भवन में घुसे थे। उनकी गतिविधियां और योजना जानने की कोशिश की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस