मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

क्रासर - देवर ने लगाया अवैध संबंध का आरोप, स्थानीय लोगों ने की आरोपित पत्नी की सामूहिक पिटाई

- पुलिसिया पूछताछ में आरोपित पत्नी ने कुबूला गुनाह संवाद सूत्र, बैरकपुर : निमता थाना के पूर्व अलीपुर इलाके के निवासी संजीवन मंडल की हत्या मामले में पुलिस ने उसकी पत्नी अनिमा मंडल (35) को गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है कि अनिमा का किसी अन्य शख्स से अवैध संबंध था जिसका पता चलने के बाद से ही दोनों के बीच अक्सर कहासुनी हुआ करती थी। इसी बीच आरोपित पत्नी ने अपने दो सहयोगियों के साथ मिलकर संजीवन की हत्या करा दी। वहीं शनिवार देर रात घर के समीप स्थित एक झाड़ी से संजीवन का गला रेता शव बरामद किया गया। घटना के प्रकाश में आने के बाद आक्रोशित स्थानीय लोगों ने अनिमा की पहले तो सामूहिक पिटाई की और इसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया। इधर, पुलिसिया पूछताछ में आरोपित अनिमा ने अपना गुनाह कुबूल लिया है। मिली जानकारी के मुताबिक मृतक संजीवन मंडल लकड़ी मिस्त्री था और उसका एक बेटा है जो कक्षा नौवीं में पढ़ता है। मृतक के बेटे ने बताया कि शनिवार की रात वह घर के पास स्थित एक साइबर कैफे में गया था और जब वहां से लौटा तो देखा उसके पिता टीवी देख रहे थे। इस बीच उसने अपने पिता से 10 रुपये लिए और फिर अपने एक साथी के घर खेलने चला गया। इसके कुछ ही समय बाद उसे खबर मिली उसके घर में खून फैला पड़ा है। वहीं आरोपित अनिमा बेलघरिया निवासी निलांजन सरकार नाम के एक इंजिनीयर के यहां आया का काम करती है। हालांकि पहले अनिमा ने कहा कि वह काम से जब घर लौटी तो घर में चारों को खून फैला देख चीख पुकार मचाने लगी, जिसके बाद वहां स्थानीय लोग आ जुटे और जमीन पर गिरे खून के निशां को टटोलते जब लोग आए बढ़े तो घर के पास स्थित झाड़ी से संजीवन का शव बरामद हुआ। हालांकि घटना के दौरान मृतक संजीवन की मां और भाई घर पर मौजूद नहीं थे। घटनास्थल से अनिमा का खून से सना नाइटी बरामद किए जाने के बाद मृतक के छोटे भाई विश्वजीत मंडल ने अपनी भाभी अनिमा मंडल पर निलांजन सरकार नाम के शख्स के साथ अवैध संबंध होने का आरोप लगाया। उसने कहा कि दोनों ने मिलकर पहले उसके भाई हत्या की और फिर उसके शव को ठिकाने लगाने को झाड़ी में फेंक दिया। उसकी मानें तो इस घटना में अन्य कई लोग भी शामिल है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप