मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सूत्र, हुगली : आरामबाग में रेल पटरी के पास से फिर एक तृणमूल काग्रेस कर्मी की लाश मिलने से खलबली मच गई। मृतक की शिनाख्त नजरुल इस्लाम (30) के रूप में हुई है। शव को पोस्टमार्टम के लिए श्रीरामपुर वाल्स अस्पताल भेजा गया है। मृतक के परिवारवालों का आरोप हैं कि किसी ने उसकी हत्या कर लाश को रेल पटरी के पास फेंकदिया। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। जिला तृणमूल काग्रेस अध्यक्ष दिलीप यादव ने कहा कि नजरुल पार्टी का सक्रिय कर्मी था। उसकी मौत कैसे हुई, यह जाच का विषय है। पुलिस तहकीकात कर रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आरामबाग थानांतर्गत पुइन ग्राम का रहने वाला नजरुल शनिवार सुबह किसी काम से घर से निकला था। दोपहर को उसके घर लौटने की बात थी। दोपहर तक घर नही लौटने पर परिवारवालों को उसकी चिंता सताने लगी। दोपहर से लेकर रात तक नजरुल की खोजबीन करने के बाद रात 10 बजे परिजनों को खबर मिली कि नजरुल का शव रेल पटरी के पास पड़ा है। इसके बाद पुलिस और परिजन घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए श्रीरामपुर वाल्स अस्पताल भेज दिया है। गौरतलब है कि गत 28 जून को इसी प्रकार गोघाट के सक्रिय तृणमूल कर्मी काशीनाथ घोष को कथित तौर पर भाजपा समर्थित गुंडों ने पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप