मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कोलकाता, जेएनएन। बंगाल में दो जगहों पर तृणमूल नेताओं की हत्या से सनसनी फैल गई है। मुर्शिदाबाद के झाड़ग्राम में रविवार रात बदमाशों ने तृणमूल नेता को गोली मार दी। गंभीर अवस्था में कोलकाता लाने पर उनकी मृत्यु हो गई। वहीं, दूसरी ओर हुगली जिले का आरामबाग में एक तृणमूल नेता का शव बरामद हुआ है। पार्टी ने हत्या का आरोप लगाया है। दोनों ही घटनाओं में तृणमूल ने भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है। दूसरी ओर भाजपा ने कहा है कि यह तृणमूल कांग्रेस के आपसी द्वंद का नतीजा है। अभी तक मारे गए नेताओं की पहचान हीं हो पाई है। पुलिस दोनों मामलों की जांच-पड़ताल कर रही है।

गौरतलब है कि बंगाल में इससे पहले गत दिनों सियासी रंजिश के बीच दो तृणमूल कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई। हमलावरों ने मुर्शिदाबाद में पंचायत समिति सदस्य को गोली मारकर तो मालदा में बूथ अध्यक्ष पर धारदार हथियार से हमला कर मौत के घाट उतार दिया गया। कांग्रेस और भाजपा आश्रित बदमाशों पर घटना को अंजाम देने का आरोप लगा है। घटनाओं में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

सूत्रों के अनुसार, सोमवार सुबह कांदी पंचायत समिति के सदस्य जहांगीर शेख (40) पैदल ही जा रहा था। बदमाशों ने रण गांव के पास उसे घेरकर करीब से गोली मार दी। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने गंभीर रूप से जख्मी जहांगीर को मुर्शिदाबाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल में पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हत्या किसी राजनीतिक रंजिश या व्यक्तिगत दुश्मनी में हुई है पुलिस ने इसकी जांच शुरू कर दी है।

उधर, जिला तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता अशोक दास का आरोप है कि कांग्रेस आश्रित बदमाशों ने ही पंचायत सदस्य की हत्या की है। माहौल खराब करने के लिए कांग्रेस ऐसा काम करवा रही है। जबकि कांग्रेस विधायक बनू खान ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि तृणमूल की गुटबाजी की वजह से ही हत्या हुई है। इसके अलावा मालदा जिले के गाजोल थाना इलाके में तृणमूल कांग्रेस के बूथ अध्यक्ष की धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी गई।

सूत्रों के अनुसार, सोमवार देर रात माजरा ग्राम पंचायत के विवेकानंद पल्ली के तृणमूल बूथ अध्यक्ष प्रदीप राय बाइक से माजरा गांव में अपनी ससुराल जा रहा था। आरोप है कि रास्ते में भाजपा आश्रित बदमाशों ने उसे घेरकर धारदार हथियार से हमला बोल दिया जिससे वह सड़क पर गिर पड़ा। शोर शराबा सुन मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने लहूलुहान अवस्था में प्रदीप को गाजोल अस्पताल पहुंचाया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद इलाके में तनाव का माहौल पैदा हो गया है। पुलिस ने हत्याकांड की जांच शुरू कर दी है। हालांकि अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप