मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

- मिल्ली अल-आमीन कॉलेज के अध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद रो पड़ी वैशाखी बंद्योपाध्याय

- कहा, मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री सोची समझी रणनीति के तहत कर रहे हैं मुझे बदनाम जागरण संवाददाता, कोलकाता : मिल्ली अल-आमीन कॉलेज के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद मीडिया कर्मियों से मुखातिब हुई वैशाखी बंद्योपाध्याय ने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी पर जमकर प्रहार किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी के इशारे पर ही उन्हें बार-बार कॉलेज में अपमानित किया गया और मौजूदा आलम यह है कि कॉलेज परिसर में सांप्रदायिक वातावरण तैयार किया जा रहा है। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि जानबूझकर सोशल मीडिया पर उनके खिलाफ कुप्रचार कर उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि पूरे कॉलेज में मैं अकेली हिंदू थी, लेकिन इससे पहले कभी भी मुझे इस प्रकार से अपमानित नहीं किया गया लेकिन आज कॉलेज को राजनीतिक अखाड़ा बना दिया गया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने मेरे पति से कहा है कि मैं शोभन को लेकर घूम रही हूं इसलिए उन्होंने शोभन को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। हालांकि इस दौरान वैशाखी के साथ कोलकाता नगर निगम के पूर्व मेयर व विधायक शोभन चटर्जी भी मौजूद थे। बात यही नहीं थमी, बल्कि आरोप-प्रत्यारोप की इस कड़ी में उन्होंने आंसू बहाना शुरू कर दिया और कहा कि उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि उन्हें इस तरह से बदनाम व अपमानित किया जाएगा। इधर, तृणमूल ने वैशाखी द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि उन्होंने जिस तरह से मीडिया के सामने अपनी बातें रखी हैं, उससे साफ हो गया है कि वे जल्द ही भाजपा में शामिल होंगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप