कोलकाता, राज्य ब्यूरो। महानगर के बैंकशाल कोर्ट स्थित राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) की विशेष अदालत ने बुधवार को 2014 में ब‌र्द्धमान जिले के खागड़ागढ़ में हुए बम धमाके के मामले में चार बांग्लादेशी नागरिकों सहित 19 जेएमबी आतंकियों को दोषी करार दिया है। इन लोगों को कोर्ट आगामी 30 अगस्त को सजा सुनाएगी।

एनआइए अधिकारियों के मुताबिक इन आरोपितों ने अदालत के सामने अपने अपराधों को कबूल कर लिया है। 2 अक्टूबर, 2014 को तत्कालीन ब‌र्द्धमान जिले के खागड़ागढ़ में आइईडी तैयार करते समय हुए धमाके में दो लोगो मारे गए थे। इसके बाद जब एनआइए ने जांच शुरू की तो पता चला कि बंगाल में बांग्लादेश के आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन (जेएमबी) सक्रिय है।

यहां बांग्लादेशी आतंकियों ने बुर्का बनाने के नाम पर किराये का मकान लिया था और उसी की आड़ में वे लोग विस्फोटक तैयार करते थे और यहां से बांग्लादेश भेजते थे। इसके बाद एनआइए ने बंगाल, बिहार, झारखंड, असम समेत कई और राज्यों में छापेमारी कर जेएमबी के जुड़े होने के आरोप में 31 लोगो को गिरफ्तार किया था। जिनमें से 19 को भारतीय दंड संहिता की धारा 120बी (आपराधिक साजिश) और यूएपीए के तहत दोषी करार दिया गया है। तीस अगस्त को न्यायाधीश सजा की घोषणा करेंगे।

बताते चलें कि दो दिन पहले ही जेएमबी के इंडियन सरगना को कोलकाता पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स ने गया से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार एजाज अहमद खागड़ागढ़ विस्फोट कांड के मुख्य साजिशकर्ता कौशर का करीबी है। इसी के माध्यम से एजाज जेएमबी शामिल हुआ था। वहीं 15 दिन पहले इंदौर से एनआइए की टीम ने जहीरुल शेख नामक एक और जेएमबी आतंकी को खागड़ागढ़ विस्फोटकांड में गिरफ्तार किया है। 

Edited By: Preeti jha