कोलकाता, जागरण संवाददाता। दूसरों को स्वस्थ रहने के नुस्खे बताने वाले एक पोषणविद् की मूत्र नली से 10,356 पथरियां निकली हैं।कलकत्ता मेडिकल कॉलेज अस्पताल के चिकित्सकों ने ऑपरेशन कर उन्हें निकाला। पोषणविद् का नाम राजीव चौधरी (40) है।

दमदम इलाके का रहने वाले राजीव महानगर स्थित ऑल इंडिया इंस्टीच्यूट ऑफ हाइजीन एंड पलिब्क हेल्थ के कर्मचारी हैं। चिकित्सकों का कहना है कि किसी व्यक्ति की मूत्र नली से इतनी बड़ी संख्या में पथरियां निकाले जाने का यह पहला मामला है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक राजीव का पिछले डेढ़ महीने से कलकत्ता मेडिकल कालेज अस्पताल में इलाज चल रहा था।

समस्या बढ़ने पर उनकी अल्ट्रा सोनोग्राफी की गई, जिसमें उनकी मूत्रनली में पथरियां होने की बात सामने आई। इसके बाद राजीव को ऑपरेशन के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया। गत बुधवार सुबह राजीव का सफलतापूर्वक ऑपरेशन किया गया। माइक्रो सर्जरी कर पथरियां निकालते समय चिकित्सकों की आंखें फटी की फटी रह गई, जब एक-एक करके 10 हजार से अधिक पथरियां निकलीं। किसी को इस बात का तनिक भी अंदाजा नहीं था कि उनकी मूत्रनली में इतनी पथरियां हैं।

अल्ट्रा सोनोग्राफी में भी इतनी पथरियां होने का पता नहीं चल पाया था। आपरेशन के बाद मरीज की हालत स्थिर है, हालांकि उन्हें चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है। अगले कुछ दिनों तक अस्पताल में ही रखा जाएगा। अस्पताल के सर्जरी विभाग के चिकित्सक मानस कुमार दत्त के नेतृत्व में इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया। मानस कुमार दत्त ने बताया कि राजीव के कॉलेस्ट्राल की मात्रा बढ़ गई थी, जिसके कारण मूत्रनली में पथरियां जम गई थीं। संक्रमण होने के कारण पथरियों की संख्या और बढ़ गई थीं।

उन्होंने बताया कि नियमित समय पर भोजन नहीं करने, जंक फूड खाने, ज्यादा रात तक जागने, अतिरिक्त मानसिक दबाव होने से शरीर में लिपिड प्रोफाइल बढ़ जाता है। इसके साथ कालेस्ट्राल इत्यादि बढ़ने से शरीर में पथरियां जमनी शुरू हो जाती हैं। 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप