संवाद सूत्र, मेदिनीपुर : पश्चिम मेदिनीपुर जिला अंतर्गत मेदिनीपुर बस स्टैंड स्थित यूबीआइ शाखा में मंगलवार को आयोजित मीडिया सम्मेलन में वरिष्ठ अधिकारी निरंजन भुइयां ने कहा कि उनका वित्तीय संस्थान किसान क्रेडिट कार्ड पर पहले की तरह कृषि ऋण देगा, लेकिन इसके लिए प्रपत्र आदि दुरुस्त होने आवश्यक हैं।

मीडिया से रूबरू होते हुए भुइयां ने कहा कि कृषि ऋण के तहत संस्थान ने प्राणी संपदा को शामिल किया है। किसान पहले की तरह ऋण ले सकेंगे, लेकिन इसके लिए आवेदक के खातों का नियमित होना अनिवार्य है। उन्होंने कहा कि नाबार्ड ने अपनी वित्तीय गतिविधियों के दायरे में स्वयं सहायक समूहों को भी शामिल किया है। इससे जिले के समूह लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि वित्तीय नीतियों में बदलाव समय की मांग है। इसके अभाव में कोई भी वित्तीय संस्थान अधिक दिनों तक अपने अस्तित्व की रक्षा नहीं कर सकता। इस अवसर पर बैंक अधिकारी पार्थ प्रतिम पाल, अमल गांगुली आदि उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran