जागरण संवाददाता, खड़गपुर : पश्चिम मेदिनीपुर जिला अंतर्गत खड़गपुर में अनधिकृत टोटो की बढ़ती संख्या के विरोध में सोमवार को आटो चालकों ने हड़ताल कर दी। करीब 700 आटो चालकों के साथ ही 348 टोटो चालकों ने भी इस दिन हड़ताल में हिस्सा लिया। हड़ताल के दौरान आटो चालकों ने बस स्टैंड में धरना-प्रदर्शन भी किया। हड़ताल की वजह से नागरिकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा है। इधर आटो चालक संगठन की ओर से यह चेतावनी भी दी है कि यदि प्रशासन की ओर से अनधिकृत टोटो की बढ़ती संख्या पर रोकथाम लगाने के लिए शीघ्र ही ठोस उपाय नहीं किया गया, तो फिर हमलोग इस हड़ताल को लगातार अनिश्चितकाल तक करेंगे। इसके लिए प्रशासन खुद ही जिम्मेदार होगा। इन दिनों शहर में करीब 700 आटो चल रहे हैं। इसके अलावा नगरपालिका प्रशासन की ओर से जारी वैद्य नंबर वाली टोटो की संख्या 348 है। 31 अगस्त 2017 को हुई एक प्रशासनिक बैठक के बाद प्रशासन की ओर से नए टोटो पर रोक लगा दी गई थी। यहां तक कि नए टोटो की बिक्री न करने के लिए विक्रेताओं को निर्देश जारी किया गया था, लेकिन शहर में बगैर किसी नंबर के अनधिकृत टोटो की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। इससे आटो चालकों के साथ ही वैद्य टोटो चालकों को भी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। यात्रियों की सवारी को लेकर आए दिन कहीं न कहीं पर आटो व टोटो चालकों के बीच हिसक झड़प भी होती है। अनधिकृत टोटो के खिलाफ गत दिनों पुलिस प्रशासन की ओर से धरपकड़ अभियान भी चलाया गया था। इसके विरोध में सैकड़ों अनधिकृत टोटो चालकों ने नपा कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया, तथा खुद की रोजी-रोटी का हवाला देते हुए नपा प्रशासन से टोटो के लिए नंबर जारी करने की मांग की। खड़गपुर टाउन आटो रिक्शा आपरेटर्स यूनियन के कार्यकारी अध्यक्ष समीर गुहा ने कहा कि टोटो की बढ़ती संख्या पर रोक लगाने के लिए जब तक प्रशासन की ओर से ठोस प्रबंध प्रबंध नहीं किया जाता है। तब तक हमलोग अपना हड़ताल जारी रखेंगे। क्योंकि टोटो की बढ़ती संख्या के कारण आटो चालकों की कमाई घटती जा रही है। इससे चालकों में नाराजगी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस