- एएसआई पर आरोप, पुलिस ने नहीं ली शिकायत

- पीड़ित परिवार अदालत से लगाएंगे मदद की गुहार

जागरण संवाददाता, जलपाईगुड़ी: पुलिस कर्मी पर अपने ही पत्नी को जलाकर मारने का आरोप लगा है। पीड़िता के परिवार वालों का आरोप है कि घटना को लेकर शिकायत करने के लिए कोतवाली थाने आने पर पुलिस वालों उनलोगों की एक बात नहीं सुनी। आरोपी का नाम असीम साहा बताया है। वह जिला पुलिस के एएसआई के पद पर कार्यरत है। वहीं पीड़ित महिला कानाम अनुराधा साहा बताया गया। जिला पुलिस के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक इंदिरा मुखर्जी ने घटना की जांच कर आवश्यक कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

27 अप्रैल 2008 को अनुराधा का विवाह पुरातन पांडा पाड़ा के निवासी असीम साहा के साथ हुआ था। दहेज के तौर पर माइके से काफी सामग्री भी दी। लेकिन विवाह के दो वर्षो बाद अनुराधा पर काफी अत्याचार होने लगा। कई बार समस्या सुलझाने की कोशिश भी की गई। लेकिन आरोप है कि गत 30 नवंबर दोपहर को अनुराधा को जलाकर मारने का प्रयास किया गया। किसी तरह खुद को बचाकर कोतवाली थाने में पहुंची, लेकिन वहां से कोई मदद नहीं मिली। करीब तीन घंटे बैठने के बाद भी प्राथमिकी दर्ज नहीं किया गया। महिला के पिता जब थाना पहुंचे तो उन्हें मामला मिटाने के लिए कहा गया। अधजली अवस्था में ही अनुराधा को जलपाईगुड़ी जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। फिलहाल वह अपने माइके में ही है। पुलिस से सहायता नहीं मिलने पर अब परिवार वाले कोर्ट से मदद की गुहार लगाएंगे।

इधर, कोतवाली थाना के आईसी बी सरकार ने कहा कि मारपीट के बाद महिला अपने पति असीम के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने आए थे। आफिसर ने शिकायत लिखित में देने को कहा। इसके कुछ देर बाद ही महिला के पिता ने उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया। अगर प्राथमिकी दर्ज कराया जाता हे तो पुलिस मामले की छानबीन करेगी। मामले में आरोपी बताए जा रहे असीम वर्तमान समय में पुलिस लाईन में कार्यरत हैं।

Posted By: Jagran