संवाद सूत्र, वीरपाड़ा: सहकारिता समूह की महिलाओं ने वर्तमान समय में समाज में एक विशेष स्थान हासिल कर लिया है। समाज निर्माण में पुरुष के साथ-साथ महिलाएं भी समान योगदान दे रही है। डुवार्स के दलमोड़ चाय बागान में परिवर्तन नामक सहकारिता समूह की महिलाओं ने दलमोड़ चाय बागान समेत आसपास के इलाकों को काफी प्रभावित किया है। इस समूह की महासचिव रोसा प्रधान ने कहा कि वे लोग मछली उत्पादन, विभिन्न प्रकार के अचार, लड़कियों की पोशाक बनाने का काम कर रहे हैं। साथ ही सुपारी की खेती करके भी इलाके की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। समूह में कुछ ऐसी महिलाएं भी है जो चाय बागान में भी काम करती है। गत पांच साल से सहकारिता समूह में काम करके वर्तमान समय में सभी आत्मनिर्भर हैं। इससे उनलोगों परिवार को चलाने में कोई परेशानी नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि महिलाएं विभिन्न मोहल्ले में सफाई अभियान भी चलाती है। माध्यमिक परीक्षा में छात्रों को केंद्र तक पहुंचाने के लिए वाहन की व्यवस्था भी सहकारिता समूह की महिलाओं ने की थी। इस कार्य के लिए उनलोगों को किसी बैंक से लोन नहीं मिला है। फलस्वरूप काम के क्षेत्र में कुछ समस्या जरूर होती है।

Posted By: Jagran