संवाद सूत्र, नागराकाटा: डुवार्स में हाथियों का उत्पात थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस क्रम में फिर एक बार रिहायसी इलाकों में हाथियों ने उत्पात मचाकर पांच घरों को क्षतिग्रस्त कर दिया। यह घटना मंगलवार देर रात को चालसा से सटे टिक लाइन व सरबती लाइन इलाके में हुई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार देर रात दो बजे के करीब पानझोड़ा जंगल से एक जंगली हाथी निकलकर टिक लाइन इलाके में घुस गया। यहां रमेश उराव, मंगरू उराव, जीतू उराव, बलाकराम उराव के घर को तोड़ दिया। फिर राधिका छेत्री नामक महिला की दुकान को भी नुकसान पहुंचाया। यहां लोगों की चिल्लाने की आवाज सुनकर हाथी सरबती लाइन में घुस गया। यहां बिकास छेत्री के घर को हाथी ने तोड़ दिया। काफी उत्पात मचाने के बाद हाथी वापस जंगल में चला गया। स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि हाथियों के उत्पात को रोकने के लिए वन विभाग की ओर कोई आवश्यक कदम नहीं उठाया जा रहा है। हाथी के घुसने की जानकारी देने के बाद भी वनकर्मी मौके पर नहीं पहुंचते हैं। पहले भी कई घरों को नुकसान पहुंचाया जा चुका है, लेकिन अब तक पीड़ित परिवारों को कोई मुआवजा नहीं मिला है। घटना की जांच करने तक वन अधिकारी मौके पर नहीं आते हैं। पानझोड़ा बिट ऑफिसर दिलीप राय ने कहा कि वनकर्मियों को मौके पर पहुंचकर जांच करने का आदेश दिया गया है। पीड़ित परिवार की ओर से आवेदन करने पर वन विभाग के नियमानुसार मुआवजा दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस