जागरण संवाददाता, दुर्गापुर : पिता कोरोना संक्रमित है एवं दुर्गापुर शहर के आइक्यू सिटी अस्पताल में इलाज चल रहा है। वहीं बेटे का रविवार की दोपहर कुआं से शव बरामद हुआ। आरोप लगाया जा रहा है कि पिता के इलाज की राशि न जुगाड़ कर पाने की हताशा से बेटे ने आत्महत्या की है। यह घटना दुर्गापुर शहर के कुरूलिया डांगा मिलन पल्ली इलाके की है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

आकाश की दुर्गापुर इस्पतनगरी के आशीष मार्केट में गाड़ी के यंत्र की एक छोटी दुकान थी। जिससे थोड़ी आय होती थी। वह माता-पिता की एकमात्र संतान था। इधर आकाश के पिता कोरोना संक्रमित होकर आइक्यू सिटी अस्पताल में भर्ती हुए उनका इलाज चल रहा है। रविवार की दोपहर अचानक कुछ देर के लिए आकाश गायब हो गया। आसपास के लोगों ने आकाश की खोजबीन शुरू की। अंत में कुआं में उसका शव मिला। पुलिस ने शव को निकालकर गांधी मोड़ स्थित अस्पताल भेजा, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मां रीना देवी ने कहा कि उसके पिता बीमार है एवं इलाज में काफी रुपया खर्च हो रहा था। वह रुपया वह जुगाड़ नहीं कर पा रहा था। जिससे चितित रहता था। स्थानीय निवासी रिपन साहा ने कहा कि पिता के इलाज के लिए कुछ रुपया जुगाड़ किया था, बाकी रुपया कहां से आएगा, इसकी चिता थी।

छिनतई मामले में पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार किया : पूर्व ब‌र्द्धमान जिले के रायना थाना की पुलिस ने छिनतई करने के मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। आरोपित शेख साजिद उफ रोनी मेमारी के इच्छापुर गांव का निवासी है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। छिनतई कर भागने के दौरान रायना थाना की पुलिस ने आरोपित को ब‌र्द्धमान-आरामबाग रोड के मुलकाठी के समीप से गिरफ्तार किया। रायना के सेहरा गांव निवासी श्रीधर दास प्रमाणिक अपनी पत्नी एवं बेटे साथ ब‌र्द्धमान से अपने घर लौट रहे थे। ब‌र्द्धमान-आरामबाग रोड के खालेरपुल इलाका में बाइक जैसे उन्होंने धीरे की। पीछे से बाइक से एक युवक पहुंचा एवं पत्नी के हाथ से बैग छीनकर भाग गया। उसमें मोबाइल, रुपया व अन्य चीज थी। सूचना मिलते ही रायना थाना की पुलिस जांच में जुट गई। पुलिस ने अभियान चलाते हुए शेख साजिद को गिरफ्तार किया। अब पुलिस गिरोह का पता लगा रही है।

Edited By: Jagran