दुर्गापुर : कांकसा थाना के पानागढ़ मोड़ के समीप एक गैराज में रविवार की दोपहर अचानक आग लग गई। इस घटना में आग से झुलस कर तूफान घोष 18 नामक कर्मी की मौत हो गई। वह कांकसा के गांगबिल गांव का निवासी था। सूचना मिलने पर दमकल की एक टीम ने पहुंचकर आग को बुझाया। तूफान को गैराज से निकालकर इलाज के लिए दुर्गापुर महकमा अस्पताल भेजा गया, जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस मामले की जांच कर रही है। रविवार को छुट्टी का दिन होने के कारण कई बाइक की मरम्मत का काम गैरेज में चल रहा था। जहां गैराज मालिक सत्यनारायण घोष के अलावा तीन लोग काम में लगे हुए थे। बाइक मरम्मत का काम चलने के कारण गैराज में पेट्रोल व मोबिल भी फैला हुआ था। अचानक ही वहां आग लग गई। जिससे वहां काम कर रहें सत्यनारायण, सुकुमार घोष भी थोड़ा झुलस गए। किसी तरह वे लोग बाहर निकल गए। उन्हें इलाज के लिए महकमा अस्पताल भेजा गया। सूचना मिलने पर लोगों की भीड़ उमड़ गई लोगों ने आग को बुझाने का प्रयास किया लेकिन सफलता नहीं मिली। इधर सूचना मिलने पर दमकल का एक इंजन भी पहुंचा। जिसने आग को बुझाकर तूफान को बाहर निकालकर अस्पताल भेजा, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं स्थानीय लोगों ने दमकल के देर से आने का आरोप लगाया एवं कहा कि अगर जल्दी दमकल आ जाता तो तूफान को भी बचाया जा सकता था। हालांकि दमकल की टीम ने आरोप को गलत बताया। पुलिस उपायुक्त अभिषेक मोदी ने कहा कि अगलगी में झुलसने से एक की मौत हुई है। अब तक कोई शिकायत दर्ज नहीं हुई, शिकायत दर्ज होने पर पुलिस मामले की जांच करेगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप