सिलीगुड़ी, जागरण संवाददाता। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉपरेरेशन (आइआरसीटीसी) लिमिटेड के नॉर्थ-ईस्ट फ्रंटियर (एनएफ) रेलवे (गुवाहाटी) क्षेत्र के अतिरिक्त महाप्रबंधक (कैटरिंग) अनुज दत्ता ने कहा है कि रेल में खान-पान की मात्र व गुणवत्ता की निगरानी की जाएगी। इसके लिए ऑन बोर्ड मॉनिटरिंग स्टाफ की कवायद की जा रही है।

हमारा सुपर वाइजर या जो स्टाफ रहेगा वह रेल में घूम-घूम कर यात्रियों से मिलेगा और उनकी शिकायतें लेगा एवं त्वरित समाधान कराने का प्रयास करेगा। अगले एक-दो महीने में के अंदर यह व्यवस्था आइआरसीटीसी की ओर से एनएफ रेलवे क्षेत्र की हर रेल में कराई जाएगी। इसके साथ ही आम यात्री भी पैंट्री कार में जा कर उपस्थित कर्मचारी मिल कर शिकायत कर सकते हैं। उनकी समस्या के त्वरित समाधान की कोशिश की जाएगी।

वह शुक्रवार को यहां एनजेपी स्टेशन स्थित वीआईपी लाउंज में संवाददाताओं को संबोधित कर रहे थे। रेल में आइआरसीटीसी की ओर से प्रदत्त खाने की मात्र व गुणवत्ता के बारे में संवाददाताओं द्वारा किए गए सवाल पर उन्होंने ऊपरोक्त जवाब दिया। इसके साथ ही उनसे यह भी पूछा गया कि रेल में अवैध रूप में वेंडर कैटरिंग सर्विस दे रहे हैं, इसके खिलाफ क्या किया जा रहा है? इस बारे में उन्होंने कहा कि यह आइआरसीटीसी के दायरे में नहीं आता है। इसके बावजूद उन्होंने कुछ शिकायतों के आधार पर इसके खिलाफ संबंधित सक्षम प्राधिकार से शिकायत की है। उम्मीद है कि सक्षम प्राधिकार की ओर से इसके खिलाफ जल्द ही कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने यह भी बताया कि एनजेपी स्टेशन पर आइआरसीटीसी के एक फूड प्लाजा का टेंडर पास हो गया है। वर्क ऑर्डर आते ही उसका निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। इसके साथ ही यहां एक बेस-किचन व जनाहार की स्थापना के लिए भी एनएफ रेलवे प्राधिकार से बातचीत जारी है। ये भी खूब संभव है कि जल्द ही साकार हो जाएंगे। वहीं उन्होंने यह भी बताया कि दार्जिलिंग हिमालयन रेलवे (डीएचआर) क्षेत्र में भी विभिन्न स्टेशनों पर फूड प्लाजा स्थापित करने हेतु आइआरसीसटी प्रयासरत है।

वैष्णो देवी मंदिर व अमृतसर की यात्र कराएगा आइआरसीटीसी

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉपरेरेशन (आइआरसीटीसी) लिमिटेड की ओर से ‘भारत दर्शन’ के तहत लोगों को वाया अमृतसर मां वैष्णो देवी दर्शन यात्र कराइ जाएगी। तीन से 12 नवंबर तक कुल 10 रात व 11 दिनों की सैर का खर्च प्रति व्यक्ति 10395 रुपये है। इसमें खाना-पीना एवं वैष्णो देवी मंदिर, अमृतसर जलियांवाला बाग, स्वर्ण मंदिर एवं वाघा बॉर्डर की सैर भी शामिल है। इसके लिए बुकिंग जारी है। आइआरसीटी के वेबसाइट से ऑनलाईन अथवा एनजेपी स्टेशन व गुवाहाटी स्थित आइआरसीटीसी कार्यालय से भी बुकिंग कराई जा सकती है। आइआरसीटीसी के नॉर्थ-ईस्ट फ्रंटियर (एनएफ) रेलवे (गुवाहाटी) क्षेत्र के अतिरिक्त महाप्रबंधक (कैटरिंग) अनुज दत्ता ने शुक्रवार को यहां एनजेपी स्टेशन स्थित वीआईपी लाउंज में संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर उक्त जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह यात्र स्लीपर क्लास की विशेष ट्रेन द्वारा होगी जिसमें लगभग 635 लोगों के सफर करने की क्षमता होगी। त्रिपुरा के अगरतला से यह यात्र तीन नवंबर को शुरू होगी। बदरपुर, गुवाहाटी, न्यू बोंगाई गांव, न्यू कूचबिहार व न्यू जलपाईगुड़ी एवं कटिहार होते हुए यह ट्रेन अपने आगे के गंतव्य तक जाएगी। इन्हीं स्टेशनों पर इसके यात्री सवार हो सकते हैं। अन्य स्टेशनों पर नहीं। जलियांवाला बाग, स्वर्ण मंदिर, वाघा बॉर्डर एवं वैष्णो देवी मंदिर के निकटतम स्टेशनों पर पहुंचने के उपरांत आइआरसीटीसी की ओर से ही लोगों इन जगहों के दर्शन हेतु बस से ले जाया जाएगा और वापस स्टेशन तक लाया जाएगा। ये सारे खर्च ऊपरोक्त पैकेज में ही शामिल हैं। उन्होंने इच्छुक लोगों से अविलंब इसकी बुकिंग करा लेने की अपील की है।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप