दार्जिलिंग, जेएनएन। 20 प्रतिशत बोनस की मांग को लेकर गोजमुमो नेता विनय तामांग का आमरण अनशन पांचवें दिन भी जारी रहा। इस दौरान बताया कि जाता है कि उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अनशन समाप्त करने की अपील को भी ठुकरा दिया है। सीएम ने उसने मोबाइल पर बात करके अपील की थी।

वहीं दूसरी ओर बताया गया है कि शुक्रवार यानी 11 अक्टूबर को एक बार फिर श्रम विभाग की ओर से कोलकाता में त्रिपक्षीय बैठक बुलाई गई है।

ज्ञातव्य होकि यह बैठक 16 और 17 अक्टूबर को बुलाई गई थी, लेकिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की हस्तक्षेप पर श्रम मंत्रालय के सचिव ने यह बैठक 11 अक्टूबर को ही कोलकाता में बुला ली है। बैठक में भाग लेने के लिए गोजमुमो संयुक्त श्रमिक मंच की ओर से अमर लामा, श्रीमती करुणा गुरुंग, भरत ठकुरी, महेंद्र छेत्री आदि शामिल हैं। पांचवे दिन भी जिला अस्पताल के डाक्टर एसके कुमार ने गुरुवार को विनय तामांग के स्वास्थ्य की जांच और बताया कि उनकी हालत पहले से अधिक संतोषजनक नहीं है। संयुक्त श्रमिक मंच के नेता अमर लामा ने बताया कि बोनस की मांग पर अब पीछे हटने का कोई सवाल ही नहीं है। गोजमुमो नेता केशव चंद्र पोखरेल ने कहाकि बोनस के मुद्दे को पांच दफे उठाया गया,लेकिन चाय बगान के मालिकों ने कोई ध्यान नहीं दिया, अब जब पर्व बीत गया है तो फिर 20 प्रतिशत बोनस से पीछे हटने का सवाल ही नहीं पैदा नहीं होता है।

बोनस की मांग को लेकर मोर्चा नेताओं ने प्रबंधन व प्रशासन के खिलाफ खोला मोर्चा

पहाड़ में चाय बागान श्रमिकों के 20 फीसदी बोनस की मांग को लेकर गोजमुमो अध्यक्ष विनय तामांग का अनशन जारी है। ऐसे में गुरूवार को कालिम्पोंग जिले के गोरूबथान ब्लाक के कुमाई चाय बागान में बागान के गोजमुमो के नेताओं ने प्रबंधन व प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। नेताओं ने कहा कि आंदोलनरत विनय तामांग को कुछ भी होने से वे लोग जोरदार आंदोलन करेंगे। इसके बाद सभी ने मिलकर बागान में विरोध प्रदर्शन किया। बता दें कि 20 फीसदी बोनस की मांग को लेकर गोरूबथान ब्लाक के 44 नंबर समष्टी इलाके के कुमाई चाय बागान के मोर्चा समर्थकों ने आंदोलन शुरू किया है।

श्रमिकों का कहना है कि पूजा के समय बोनस की मांग करने पर उनलोगों को नहीं मिला। मालिक पक्ष 12 फीसद बोनस देने पर राजी है। लेकिन हमलोग इसे लेने को राजी नहीं है। इस दिनों पहाड़ के चाय बागानों की हालत काफी अच्छी है। अभी मालिकों को चाय पत्तियों के सही रूप से मिल रहे है।

श्रमिक नेता जय बहादुर चामलिंग ने कहा कि यहां पर भाजपा सांसद राजू बिष्ट कुछ भी नहीं कर रहे है। उन्हें वोट देकर जिताया है, लेकिन वे भूल गए है। ऐसे में उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

गोजमुमो 44 नंबर समष्टी के अध्यक्ष हरकमान छेत्री ने कहा कि श्रमिकों को 20 फीसदी बोनस नहीं मिलने से जोरदार आंदोलन किया जाएगा। यहां के बोनस को लेकर राज्य से लेकर केंद्र सरकार कोई पहल नहीं कर रही है।  

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप