दार्जिलिंग, जेएनएन। Tea Gardens Of Dajirling: हिल्स के चाय बागानों में श्रमिकों के 20 फीसदी बोनस की मांग को लेकर गोजमुमो अध्यक्ष विनय तामांग का चौथे दिन भी अनशन जारी रहा।मालूम हो कि चाय बागान मालिक 15 फीसदी बोनस पर अड़ने के बाद विनय तामांग ने दार्जिलिंग के मोटर स्टैंड में गत छह अक्टूबर से आमरण अनशन शुरू किया था। अनशन के तीसरे दिन होने के बाद विनय तामांग की स्वास्थ्य हालत खराब होते देखकर जिला अस्पताल के डाक्टर ने उन्हें अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी। लेकिन उन्होंने चिकित्सक के सुझाव को अस्वीकार कर दिया।

चौथे दिन तक जल तक ग्रहण न करने से विनय तामांग की हालत और बिगड़ती जा रही है। वही मोर्चा के सहयोगी संगठन भी उनके साथ खड़ा हो रहा है। वही दूसरी ओर बागान के मालिक खामोश है। वही तामांग इसके लिए मालिक पक्ष को सीधे जिम्मेवार बता रहे है।

वही दूसरी ओर गोजमुमो कर्सियांग महकमा कमेटी के प्रवक्ता व दार्जिलिंग तराई डुवार्स प्लान्टेशन लेबर यूनियन (डीटीडीपीएलयू) कर्सियांग महकमा कमेटी के सांगठनिक सचिव दया देवान ने श्रमिक आंदोलन के तहत चाय बागानों में कार्यरत श्रमिकों को 20 प्रतिशत बोनस देने की मांग में गोजमुमो केन्द्रीय कमेटी के अध्यक्ष विनय तामंग द्वारा किये जा रहे आमरण अनशन को निसंकोच साथ देकर सफल बनाने का आह्वान किया है।

उन्होंने संपूर्ण राजनैतिक पार्टी के नेतृत्व व कार्यकर्ताओं से यह आह्वान करते हुए श्रमिकों के लिए 2020 का नया अध्याय शुरू करने के लिए भी कहा है। उन्होंने बताया है कि श्रमिकों को मालिकों के शोषण से मुक्ति दिलाने, श्रमिकों के लिए देश के संविधान में उल्लेखित धारा के तहत राज्य सरकार के श्रमिक ऐन अंतर्गत प्राप्त होनेवाली संपूर्ण सहूलियतों को दिलाने व पहाड़ तराई डुवार्स के गोरखा आदिवासी गरीब श्रमिकों को उन्मुक्ति दिलाने की सोंच लेकर इस आंदोलन को किया गया है।

विनय तामंग के नेतृत्व में श्रमिकों को मुक्ति व अधिकार दिलाने के लिए दार्जिलिंग पहाड़ तराई व डुवार्स के जनता को एकवद्ध होकर साथ देने का आह्वान भी उन्होंने किया है।

गोजमुमो अध्यक्ष के जारी अनशन को लेकर बागान प्रबंधन नहीं ले रहा सूध, पार्टी की ओर से राज्य व केंद्र सरकार से हस्तक्षेप की मांग

गोजमुमो कालिम्पोंग जिला समिति ने विनय के समर्थन में निकाला कैंडल मार्च

चाय श्रमिकों के दशहरा में बोनस 20 फीसदी देने की मांग को लेकर मोर्चा अध्यक्ष विनय तामांग द्वारा शुरु किये गए आमरण अनशन के 60 घंटे बीत जाने के बाद भी बागान मालिक पक्ष की ओर से अब तक कोई पहल नहीं किया गया है। इधर विनय तामांग की स्वास्थ्य हालत बिगड़ते हुए देख पार्टी केन्द्रीय समिति ने विभिन्न कार्यक्रमों को हाथ में लिया है।

उक्त कार्यक्रम अनुरूप बुधवार शाम को गोजमुमो कालिम्पोंग जिला समिति ने कैंडल मार्च निकाला। यह डम्बर चोक होते हुए शहर के विभिन्न स्थानों की परिक्रमा कर वापस डंबर चौक में समाप्त होकर पथसभा में तब्दील हो गया। कैंडल मार्च गोजमुमो समिति अध्यक्ष संचवीर सुब्बा, नगराध्यक्ष रवि प्रधान, कार्यकारी अध्यक्ष रोशन राई, प्रवक्ता भुवन पी. खनाल, सांगठनिक सचिव विनय घीसिंग, सह सचिव पंकज छेत्री, चालक महासंघ अध्यक्ष महेन्द्र गुरूंग, कार्यकारी युमो अध्यक्ष बारूद थापा, 33 नम्बर समष्टि संयोजक अनुप छेत्री लगायत केन्द्रीय समिति सदस्यवर्ग, वार्ड पार्षद् , नारी मोर्चा, युवा मोर्चा, विद्यार्थी मोर्चा प्रतिनिधि उक्त रैली में उपस्थित थे। कालिम्पोंग शहर में कैंडल मार्च करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए जिला प्रवक्ता भुवन पी. खनाल ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष विनय तामांग आमरण अनशन बैठे हुए 4 दिन पुरा हो चुका है।

उसके बावजूद बागन मालिक एवं प्रबंधन चुपचाप बैठे हुए है। चाय श्रमिक के 20 प्रतिशत बोनस यथाशीर्घ प्राप्त नहीं होने श्रमिक लगायत सम्पूर्ण जनता अब सड़क में निकलेगा। पहाड़ के सत्तासिन दल के प्रमुख आमरण अनसन बैठे पहाड़ के इतिहास में ये पहला एवं महत्वपूर्ण अध्याय है। उन्होंने कहा कि विनय तामांग जनता के लिए समर्पित नेता है। वे अपने जीवन को दाव में लगाकर श्रमिक के लिए आमरण अनशन में बैठा है। वही उन्होंने राज्य सरकार एवं केन्द्र सरकार द्वारा शीघ्र प्रबन्धन पक्ष पर दवाब कर श्रमिकों को बोनस दिलाने के मांग की गई।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप