कालिम्पोंग, संवादसूत्र। जीटीए (बीओए) के अध्यक्ष विनय तमांग मंगलवार को दो मामलों में कालिम्पोंग जिला अदालत में पेश हुए। गोरखालैंड आंदोलन के दौरान सरकार द्वारा लगाए गए आरोप को लेकर वे इस दिन अदालत पहुंचे थे।

अदालत में हाजिर होने के बाद बाहर में पत्रकारों से बातचीत करते हुए विनय तामांग ने कहा कि कानून सभी के लिए बराबर है। इसलिए कानून की इज्जत करना हम सभी का फर्ज है। इसी को निभाने के लिए वे आज अदालत में हाजिर हुए है।

विमल गुरूंग का नाम लिए बगैर विनय तमांग ने कहा कि मैं ऐसा नहीं हूं कि अपने पर लगे केस को लड़कर अन्य दूसरे को छोड़कर चला जाता हूं। 2007 से 2017 के बीच निरंतर आंदेालन में उनपर 219 मामला है। कई मुद्दों पर सुनवाई का क्रम जारी है। उन पर लगे मुद्दों पर पांच पर फैसला आ चुका है।

इस दिन उन मुद्दों की अंतिम सुनवाई थी। जिसमें उन्हें बरी कर दिया गया है। बरी हुए मुद्दों में 2013 में राजमार्ग में एक बाइक को जलाने एवं सिक्किम की गाड़ियों पर तोड़फोड़ करने का आरोप है।

वही आंदोलन काल में तब के उत्तर बंगाल विकास मंत्री गौतम देव को काले झंडा दिखने के मामले की सुनवाई अब तक नहीं हो पाई है। इस केश की अगली सुनवाई अगस्त महीने में होना है।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप