फोटो : संजय 13 व 21 -एसबीआई के एटीएम गार्ड के भविष्य पर अनिश्चितता के बादल

-दो-तीन महीने से नहीं मिल रहा वेतन, आंदोलन की चेतावनी जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी :

उत्तर बंगाल के विभिन्न जिलों में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के एटीएम में कार्यरत गार्डो के भविष्य पर अनिश्चितता के बादल मंडराने लगे हैं। उनके पद व पैसे दोनों में कटौती कर दी गई है। इसके साथ ही नौकरी के बने रहने पर भी खतरा मंडराने लगा है। इसे लेकर कांट्रैक्चुअल बैंक एंप्लाई यूनिटी फोरम ने आंदोलन की चेतावनी दी है।

सिलीगुड़ी जर्नलिस्ट्स क्लब में बुधवार को संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर फोरम की पश्चिम बंगाल प्रदेश कमेटी के महासचिव नारायणचंद्र पोद्दार ने कहा कि पहले एटीएम गार्ड का पद सेक्योरिटी गार्ड था जिसे अब हाउसकीपर कर दिया गया है। हर जगह कर्मियों की पदोन्नति होती है मगर यहां अवनति कर दी गई। इसी तरह पहले वेतन 12-13 हजार रुपये मासिक मिलता था जो अब विभिन्न मदों में कटौती कर मात्र 8-9 हजार रुपये कर दिया गया। उस पर भी पिछले दो-तीन महीनों से वेतन का भुगतान नहीं किया जा रहा है। यही रवैया रहा तो इन सबकी नौकरी पर भी खतरे की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता।

उन्होंने बताया कि ये एटीएम गार्ड थर्ड पार्टी एजेंसी के माध्यम से कार्य करते हैं। उनका वेतन भी थर्ड पार्टी एजेंसी ही देती है जो भुगतान संबंधित बैंक से लेती है। मगर, इधर दो-तीन महीनों से वेतन क्यों रोक कर रखा गया है। यह समझ से परे है। इसके चलते उत्तर बंगाल में लगभग साढ़े चार सौ एटीएम गार्डो के परिवार पर रोजी-रोटी का संकट आन पड़ा है। इसे हर्गिज बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। इसके खिलाफ हम लोग आगामी 20 दिसंबर को यहां स्टेट बैंक के सिलीगुड़ी क्षेत्रीय कार्यालय का घेराव कर विरोध प्रदर्शन करेंगे। वर्तमान में हमारा हस्ताक्षर संग्रह अभियान चल रहा है। हमारा यह आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक कि प्रभावित लोगों को इंसाफ नहीं मिला जाता। इस दिन संवाददाता सम्मेलन में उक्त फोरम की पश्चिम बंगाल प्रदेश कमेटी के उपाध्यक्ष जय लोध व अन्य सम्मिलित रहे।

इस बाबत स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के सिलीगुड़ी क्षेत्रीय कार्यालय के संबंधित पदाधिकारी से भी प्रतिक्रिया लेने का प्रयास किया गया पर उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप