राज्य ब्यूरो, कोलकाता। Rohingya Women Arrested. महानगर के दमदम स्थित नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर दो रोहिंग्या महिलाओं को हिंदू नाम रखकर फर्जी पासपोर्ट के जरिए विदेश जाते समय गिरफ्तार किया गया है। इमीग्रेशन विभाग के अधिकारियों ने रविवार की आधी रात को बैंकॉक जाने वाले विमान में सवार होने से पहले उन्हें दबोच लिया।

रविवार की रात लगभग 12.50 बजे कोलकाता से बैंकाक जाने वाली थाई एयरवेज की उड़ान की दो यात्रियों पर इमीग्रेशन विभाग को संदेह हुआ। उनके पासपोर्ट की जांच की गई तो पता चला कि एक का नाम रीना साहा और दूसरे का तान्या बिस्वास है। हालांकि, दस्तावेज की सावधानीपूर्वक जांच करने के बाद पता चला कि ये दोनों ही पासपोर्ट फर्जी है। तानिया का असली नाम तस्लीमा है, जबकि दूसरी रीना का नाम रुखसाना अख्तर है। दोनों म्यांमार के तंगसुरिया की निवासी हैं। उनसे पूछताछ करने के बाद इमीग्रेशन विभाग ने दोनों महिलाओं को एनएससीबीआइ थाने की पुलिस को सौंप दिया।

पुलिस सूत्रों के अनुसार दोनों महिलाओं के पासपोर्ट उत्तर 24 परगना जिले के बांग्लादेश की सीमा से सटे हाबरा फुलतल्लला के पते का है। उन्होंने भारतीय पासपोर्ट कैसे बनाया? किसने बनाया फर्जी पोस्टपोर्ट तैयार किया? क्या उनके साथ और भी रोहिंग्या हैं? इन सभी सवालों के जवाब के लिए दोनों से पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा यह भी देखा जा रहा है कि कहीं इस मामले का तारा किसी बड़े रैकेट से तो जुड़ा नहीं है। खुफिया सूत्रों के अनुसार, कुछ दिनों पहले बांग्लादेश से लगभग 30 रोहिंग्याओं का एक समूह भारत में प्रवेश किया था। उनके उत्तर 24 परगना में घोजाडांगा सीमा के माध्यम से भारत में प्रवेश करने की सूचना है। वहां घुसपैठिए विभिन्न दलालों के माध्यम से भारतीय फर्जी पासपोर्ट जुगाड़ लेते हैं। संदेह से बचने के लिए हिंदू के नाम रख लिया जाता है। इन दोनों महिलाओं का भारत से इंडोनेशिया जाने की योजना थी। क्योंकि उनमें से एक का पति उसी देश में काम करता है। लेकिन खुफिया विभाग के लिए सबसे बड़ी चिंता का विषय यह है कि अन्य 28 रो¨हग्या आखिर हैं कहां?

उल्लेखनीय है कि म्यांमार के राखीन प्रांत में सैन्य अभियान के बाद लाखों रोहिंग्या शरणार्थियों ने बांग्लादेश में शरण ली थी। लेकिन उसने भारत के लिए एक बड़ी सुरक्षा समस्या पैदा कर दी है। रोहिंग्या मणिपुर और पश्चिम बंगाल में सीमा से घुसपैठ कर रहे हैं। घुसपैठिये दलालों के माध्यम से भारतीय पासपोर्ट सहित अन्य दस्तावेज एकत्र कर रहे हैं। रोहिंग्या में से कई के संबंध आतंकी संगठनों से होने के प्रमाण मिलने के बाद से चिंता आर बढ़ गई है।

बंगाल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021