कोलकाता, जागरण संवाददाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा एनआरसी के मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर दिए बयान पर तृणमूल ने पलटवार किया है। पार्टी के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि पीएम ममता बनर्जी से भयभीत हैं। यह उनकी कमजोरी को दर्शाता है।

चटर्जी ने कहा कि असल में भाजपा को अहंकार तो है ही उन्हें इतिहास की भी जानकारी नहीं। मुझे बस इतना ही कहना है कि 2019 में भाजपा समाप्त हो जाएगी।

बता दें कि एक निजी न्यूज एजेंसी को दिए साक्षात्कार में पीएम ने एनआरसी वाले ममता बनर्जी के बयान पर कहा कि जिन लोगों का विश्र्वास खुद पर नहीं है, जो लोकप्रियता में कमी होने से डरे हुए हैं और हमारे देश की व्यवस्था पर विश्र्वास नहीं रखते, वही गृह युद्ध, रक्तपात और देश के टुकड़े-टुकड़े जैसे शब्दों का प्रयोग करते हैं। जाहिर है ऐसे लोग देश की आत्मा से कट चुके हैं।

वहीं, अमित शाह के महानगर दौरे को लेकर भी भाजपा और तृणमूल में वाक युद्ध जारी है। पार्थ चटर्जी ने कहा कि शाह ने यहां विकास की बात नहीं की क्योंकि उन्होंने देश के लिए विकास किया ही नहीं। ना ही लोगों को बैंक अकाउंट में 15 लाख रुपये मिले और ना ही विकास हुआ, इतना जरूर हुआ है कि पीएम ने विदेश यात्रा में नया कीर्तिमान गढ़ा है। ममता बनर्जी के सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी को शाह द्वारा निशाना बनाए जाने पर पार्थ ने कहा कि अभिषेक की ख्याति से भाजपा भयभीत है। उन्हें यह प्रतीत हो गया है कि तृणमूल ने अपनी दूसरी पीढ़ी को भी सामने ला दिया है।

एनआरसी के मुद्दे पर तृणमूल महासचिव पार्थ चटर्जी ने रविवार को कहा कि लंबे समय से भारत में रह रहे लोगों को अगर भारतीय जनता पार्टी की सरकार नागरिकता से वंचित कर रही है तो तृणमूल कांग्रेस इस पर चुप नहीं बैठेगी। जरूरत पड़ने पर सुप्रीम कोर्ट से लेकर हर तरह का कानूनी कदम उठाया जाएगा। एनआरसी मामले पर तृणमूल कांग्रेस की ओर से रुख स्पष्ट किए जाने के सवाल पर पार्थ चटर्जी ने कहा की भारतीय जनता पार्टी की सरकार षड्यंत्र के तहत बांग्ला भाषी लोगों को देश से निकालने की कोशिश कर रही है। इस पर रुख स्पष्ट करने की कोई बात नहीं है। तृणमूल कांग्रेस की सरकार इसके खिलाफ लड़ रही है और लड़ती रहेगी।

By Preeti jha