जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : नवरात्र के मौके पर तेरह अप्रैल को कलश की स्थापना होगी। सुबह पांच बजे से कलश स्थापित की शुरूआत हो जाएगी। वहीं सुबह ग्यारह बजे से बारह बजे तक अविजित मुहर्त है। ये कलश स्थापना का शुभ लगन है। इस बारे में पंडित उमाशंकर पांडेय ने बताया कि सुबह ग्यारह बजे से बारह बजे तक अविजित मुहर्त है। इस समय कलश स्थापित करना बेहद शुभ है। वहीं सुबह पांच बजे से ही कलश स्थापित किया जा सकता है। ऐसे में शहर के मंदिरों में भी कलश स्थापना की तैयारियां चल रही है। कंबल पट्टी स्थित हनुमान मंदिर, नेहरु रोड स्थित संकट मोचन हनुमान मंदिर, सालासर दरबार धाम सहित अन्य मंदिरों में कलश स्थापित करने की तैयारी की जा रही है।

इसके साथ ही नवरात्र को लेकर शहर के बाजार में रौनक नजर आ रही है। देवी के श्रृंगार की एक से एक खुबसूरत वस्तुएं बाजार में उतारी गई है। एक से एक सुंदर मालाओं से दुकानें सजी हुई है। इसके अलावा मोतियों से गूंथी हुई मालाओं को भी बेहद पसंद किया जा रहा है। लाल-पीले सहित अन्य रंगों के फूलों की मालाओं की भी बेहद मांग है। देवी का दरबार सजाने की सामग्री की भी बेहद मांग नजर आ रही है। दुकानदारों का कहना है कि चैती नवरात्र को लेकर श्रद्धालुओं में अपार उत्साह है। नवरात्र को देखते हुए एक से एक खूबसूरत सामग्री उपलब्ध है। देवी के लिए एक से एक सुंदर पोशाक मंगाई गई है। जिसे बेहद पसंद किया जा रहा है। इसी कड़ी के तहत मिट्टी के कलश से भी बाजार सजा हुआ नजर आ रहा है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021