दार्जिलिंग,[संवादसूत्र]। केंद्र सरकार ने बीते जून माह से पहाड़ पर गोरखालैंड आंदोलन तथा बंद के दौरान हुए बम विस्फोट कांड की एनआईए जांच के आदेश दिए हैं। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार जल्द ही एनआईए की टीम दार्जिलिंग आकर मामले की छानबीन शुरू कर सकती है।

ज्ञात हो कि पहाड़ बंद के दौरान दार्जिलिंग के बस स्टैंड क्षेत्र से बम विस्फोट के बाद सिलसिलेवार तरीके से सुखियापोखरी पुलिस कार्यालय तथा कालिम्पोंग पुलिस कार्यालय के निकट विस्फोट हुए थे। कालिम्पोंग विस्फोट कांड में एक सिविक पुलिस का जवान शहीद भी हो गया था। 

केंद्र द्वारा एनआईए जांच के निर्णय का गोजमुमो सुप्रीमो विमल गुरुंग ने स्वागत करते हुए अन्य मामलों की भी सीबीआई जांच की अपनी पुरानी मांग दोहराई। प्रेस विज्ञप्ति जारी कर गुरुंग ने बंद के दौरान हुई  हिंसा में मारे गए लोगों,तकभर क्षेत्र में पुलिस मुठभेड़ कांड तथा कालिम्पोंग के पार्षद वरुण भूजेल की पुलिस अभिरक्षा में मौत की सीबाीआई जांच की मांग की है। बताते चलें कि तकभर मुठभेड़ में सदर थाने के एसआई अमिताभ मलिक की मृत्यु हो गई थी। 

बीती 17 जून को गोजमुमो के सिहमारी पार्टी कार्यालय के निकट गोलीकांड के बाद से ही मोर्चा प्रमुख विमल गुरुंग तथा महासचिव रोशन गिरी के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी हुआ था।

 

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप