-समय पर काम संपन्न करने के लिए एनएफ रेलवे ने झोंकी पूरी ताकत,काम में आसानी के लिए दो वर्गो में बांटा गया जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : भारतीय रेल ने हाल ही में 'विजन 2024' दस्तावेज जारी किया है। इस परिकल्पना के तहत वर्ष 2024 तक 2024 एमटी माल लोडिंग का लक्ष्य तय किया गया है। लक्ष्य की प्राप्ति के लिए क्षमता वृद्धि बुनियादी ढाचा परियोजना यानी नई लाइनों, दोहरी लाइन इत्यादि के साथ विद्युतीकरण के साथ सुरक्षा पर विशेष रूप से बल दिया गया है। निर्धारित समय के अंदर लक्ष्य प्राप्ति के लिए सम्पूर्ण देश में जारी परियोजनाओं को सुपर क्रिटिकल प्रोजेक्ट्स एवं क्रिटिकल प्रोजेक्ट्स के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इसके अलावा गति वृद्धि तथा स्वचालित सिग्नलिंग, ट्रेन कोलिजन एवॉयडेंस सिस्टम (सीटीएएस) इत्यादि के प्रावधान के जरिए क्षमता वृद्धि के लिए कुछ एचडीएन (हाई डेंसिटी नेटवर्क) एवं एचयूएन (हाइली यूटिलाइज्ड नेटवर्क) रूटों को चिन्हित किया गया है। इन सभी कार्यो को मार्च 2024 तक सम्पन्न करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके अलावा, पूर्वोत्तर क्षेत्र के अंतर्गत कुल 294 किमी लंबी 4 राष्ट्रीय परियोजनाएं भी निर्धारित समय के अंदर सम्पन्न होने की उम्मीद है।

उक्त आशय की जानकारी देते हुए एनएफ रेलवे के सीपीआरओ शुभानन चंदा ने बताया कि मार्च, 2024 तक ट्रैक दोहरीकरण के जरिए क्षमता वृद्धि के लिए पूसी रेल में 3 एचडीएन तथा 2 एचयूएन नेटवर्क चिन्हित किए गए हैं। एचडीएन रूट हैं न्यू बोंगाईगांव-रंगिया-अगथोरी, आमबाड़ी फालाकाटा-न्यू मयनागुड़ी तथा न्यू मयनागुड़ी-गुमानीहाट अनुभाग तथा चिन्हित एचयूएन रूट न्यू बोंगाईगांव-ग्वालपाड़ा-कामाख्या एवं दिगारु-होजई अनुभाग है। लामडिंग-फुरकेटिंग अनुभाग की दोहरी लाइन को भी वर्ष 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप