एनएफ रेलवे एंप्लाइज यूनियन, सिलीगुड़ी जंक्शन शाखा ने किया प्रदर्शन

जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : केंद्र सरकार द्वार रेल समेत विभिन्न केंद्रीय प्रतिष्ठानों पर मौद्रीकरण की नीति अपनाए जाने का विरोध रेलवे के विभिन्न संगठनों द्वारा किया जा रहा है। इसके विरोध स्वरूप बीते सोमवार से एनएफ रेलवे एंप्लाइज यूनियन की ओर से विरोध सप्ताह मनाया जा रहा है। इसी कड़ी में मंगलवार को जहां एनएफ रेलवे एंप्लाइज यूनियन, सिलीगुड़ी जंक्शन शाखा की ओर से सिलीगुड़ी जंक्शन के डीजल लोकोमोटिव शेड, डेमू शेड तथा सिलीगुड़ी जंक्शन स्टेशन पर विरोध सभा का आयोजन किया गया। वहीं बुधवार को सिलीगुड़ी जंक्शन के नैरोगेज शेड में आयोजित विरोध सप्ताह के तीसरे दिन विरोध सभा को संबोधित करते हुए एनएफ रेलवे एंप्लाइज यूनियन, सिलीगुड़ी जंक्शन शाखा के अध्यक्ष प्रदीप गजमेर व सचिव विकास कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों से हर वर्ग के लोग परेशान है। केंद्र सरकार अपनी मौद्रीकरण की नीति से केंद्रीय सरकारी प्रतिष्ठानों को बेचने पर तुली है। इससे रेलवे भी अछूता नहीं है। सरकार की इस जनविरोधी नीति से रेलवे व उसके कर्मचारियों का भविष्य अंधकारमय होता जा रहा है। रेलवे व उसके परिसंत्तियों की मौद्रीकरण व व्यवसायीकरण करना बंद किया जाना चाहिए। रेलवे का निजीकरण किसी भी हाल में नहीं होना चाहिए। ट्रेनों का परिचालन निजी ऑपरेटर्स के हाथ दिया जाना किसी भी हाल में स्वीकार्य नहीं होगा। वर्ष 2021 का बोनस अविलंब प्रदान किया जाना चाहिए। रेलवे के सात प्रोडक्शन यूनिट की व्यवसायीकरण नहीं किया जाना चाहिए। इस मौके पर यूनियन के तनुज कुमार दे समेत अन्य लोग मौजूद थे।

Edited By: Jagran