जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : पश्चिम बंगाल में हालिया उपचुनाव में पार्टी के कमजोर प्रदर्शन के बाद भाजपा की प्रदेश इकाई ने सभी जिला इकाइयों से नागरिकता (संशोधन) विधेयक को लेकर कमर कस ली है। इसको लेकर घर-घर तक पहुंचने का अभियान शुरू करने को कहा है।

यह निर्देश ऐसे वक्त आया है, जब केंद्रीय कैबिनेट ने मसौदा कानून को मंजूरी दे दी है और संसद में सोमवार को नागरिकता विधेयक पेश किया जाना है। भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई ने दिन में सभी जिला अध्यक्षों और शीर्ष नेताओं की आपात बैठक बुलायी। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, पार्टी के वरिष्ठ नेता शिव प्रकाश बैठक में मौजूद थे। इस बात की पुष्टि भाजपा नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री मुकुल राय ने की है। बताया कि संसद में इस विधेयक को ेरखे जाने और पारित होने पर इस महीने से ही हमें घर घर जाकर ेअभियान शुरू करने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि मसौदा विधेयक संविधान की आत्मा और भावना के अनुरूप है। विरोधी घुसपैठियों के माध्यम से वोट बैंक बचाने के संकीर्ण संकीर्ण हित को लेकर अंधे हो गए हैं। उन्होंने कहा कि कुछ विशेष धर्म के लोगों को नागरिकता देने का मतलब पड़ोसी देशों में उनका उत्पीड़न और उनसे हो रहे दु‌र्व्ययवहार से उन्हें बचाना है। यह विधेयक किसी भी तरह से भारत के नागरिकों के बीच भेदभाव नहीं करता और सबका साथ, सबका विकास की नीति को पुष्ट करता है। उन्होंने कहा कि अवैध प्रवासी देश पर बड़ा बोझ हैं और गरीब नागरिकों को उनके संसाधनों से वंचित करते हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस